134 विधायकों मे से 131 देंगे शशिकला का साथ, ले जाया जा रहा है गुप्‍त स्‍थान

नई दिल्‍ली। तमिलनाडु में सीएम पद को लेकर रस्‍साकसी अभी जारी है। शशिकला चाहती हैं कि राज्‍य की कमान वो संभाले लेकिन पूर्व सीएम जयललिता के करीबी #Panneerselvam ने अपना इस्‍तीफा वापस ले लिया है। उन्‍होंने देर रात कहा कि जे जयललिता की आत्‍मा ने मुझे सीएम बनने के लिए कहा है। वहीं खबर मिली है कि समर्थन दे रहे 130 विधायकों को तीन बसों में बिठाकर मीडिया से दूर किसी अज्ञात स्थान पर ले जाया गया है।

#Panneerselvam

#Panneerselvam के समर्थन में आए ये विधायक

एआईडीएमके पार्टी की महासचिव शशिकला के विरोध के सुर उठने लगे हैं। ऐसी खबरें मिली हैं कि पार्टी के 134 विधायकों में से 131 ने शशिकला का साथ देने को कहा है। वहीं बगावत पर उतारू #Panneerselvam ने विधानसभा में बहुमत साबित करने का दावा जरूर किया, लेकिन उन्होंने महज 50 विधायकों के अपने साथ होने की बात कही।

तमिलनाडु की नई सीएम

शशिकला ने की एकजुटता की अपील

पन्नीरसेल्वम के इस दावे के बाद पार्टी की महासचिव शशिकला ने विधायकों की बैठक बुलाई। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, बैठक में शशिकला ने 11 मिनटों के अपने संबोधन में विधायकों से उनके साथ रहने की अपील की। उन्होंने सभी विधायकों से साथ रहने का आह्वान करते हुए कहा कि पिछले 48 घंटों में जो कुछ भी हुआ, वो गद्दारों की साजिश हैं। आप उन गद्दारों के पीछे नहीं जाएं, हम सबको एकसाथ रहना चाहिए।

बैठक में 129 विधायक हुए शामिल

इस बैठक के बाद शशिकला ने पार्टी मुख्यालय से बाहर आकर समर्थकों का अभिवादन किया। सूत्रों ने साथ ही बताया कि पार्टी मुख्यालय में हुई इस बैठक में पार्टी के 134 में से 129 विधायक मौजूद थे, वहीं मनोरंजितम और तमीमुल अंसारी ने चिट्ठी भेजकर शशिकला को समर्थन जताया।

‘पन्नीरसेल्वम ने मुझसे सीएम बनने को कहा था’

वहीं बैठक के बाद शशिकला ने कहा कि अम्मा के निधन के बाद पन्नीरसेल्वम सहित तमाम नेताओं ने मुझसे सीएम पद की जिम्मेदारी संभालने को कहा। 33 सालों से मैं जयललिता के साथ थी। उनके निधन से मैं बेहद दुखी थी, इसलिए तब ऐसा नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘अम्मा और एमजीआर के अच्छे कार्यों और विरासत को आगे ले जाना हम सब का कर्तव्य है… यहां कुछ ताकतें हैं, जो पार्टी को बांटना चाहती हैं, लेकिन उनकी बातों पर ध्यान नहीं दें।

गद्दारों को सिखाएंगे सबक

उन्होंने कहा, ‘मैं महसूस कर सकती हूं कि सीएम ने विपक्ष बहकावे में ये कदम उठाएं हैं। पन्नीरसेल्वम उस पार्टी के साथ जा मिले, जिसके खिलाफ अम्मा ने लड़ाई लड़ी। एक सच्चा एआईएडीएमके कार्यकर्ता कभी पार्टी की भलाई के खिलाफ कदम नहीं उठाएगा। कोई भी हमें बांट या तोड़ नहीं सकता। पार्टी महासचिव होने के नाते पन्नीरसेल्वम की इस गलत हरकतों के बाद अब मेरी जिम्मेदारी है कि मैं इस पर विराम लगाऊं।

अम्मा की मौत की जांच के लिए आयोग

इससे पहले पन्नीरसेल्वम ने अपने आवास पर मीडिया से बातचीत में 50 विधायकों के समर्थन की बात करते हुए विधानसभा में बहुमत साबित करने का दावा किया था। इसके साथ ही उन्होंने जयललिता की मौत के मामले में शशिकला पर परोक्ष रूप से निशाना भी साधा। पन्नीरसेल्वम ने यहां कहा, ‘हाल के दिनों अम्मा की बीमारी को लेकर उठाए जा रहे सवालों की जांच कराना राज्य सरकार की जिम्मेदारी हैं। इस मामले में जांच आयोग की सिफारिश करेंगे।

‘पार्टी काडर कहें, तो इस्तीफा वापस ले लूंगा’

वहीं मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे चुके #Panneerselvam ने साथ ही कहा कि ऐसा एक भी मौका नहीं, जब पन्नीरसेल्वम ने सत्ता या विपक्ष में रहते हुए पार्टी से गद्दारी की है। अगर पार्टी काडर कहेंगे तो मैं अपना इस्तीफा वापस ले लूंगा. इसके साथ ही पन्नीरसेल्वम ने कहा, ‘सीएम होना एक बड़ी जिम्मेदारी है लेकिन हर कदम पर मेरी करीबियों ने मुझे अपमानित किया।

केंद्र सरकार तमिल लोगों के साथ

तमिलनाडु के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके पन्नीरसेल्वम ने कहा है, केंद्र सरकार तमिल लोगों के साथ है। जो कोई भी तमिलों का साथ देगा, हम उसे स्वीकार करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर दीपा (जयललिता की भतीजी) ने हमें समर्थन दिया, तो हमें स्वीकार होगा। इस बीच खबर है कि दीपा थोड़ी ही देर में पन्नीरसेल्वम से मुलाकात करेंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button