दुर्घटना के बाद लकवाग्रस्त भारतीय मजदूर यूएई से भारत लौटा

अबू धाबी। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में एक दुर्घटना के बाद पूर्ण रूप से लकवाग्रस्त हो चुके 54 वर्षीय भारतीय मजदूर को वापस भारत भेज दिया गया और वह अपने परिवार के पास दोबारा लौट आए हैं। दुबई में कंसुलेट जनरल ऑफ इंडिया द्वारा गठित चिकित्सा समिति के साथ एक सामाजिक कार्यकर्ता प्रसाद श्रीधरन ने कहा कि गुरमेज सिंह शनिवार शाम को पंजाब में अपने घर पर पहुंचे। द खलीज टाइम्स की सोमवार की खबर के मुताबिक, भारतीय वाणिज्य दूतावास ने तेजी से कार्य करते हुए मरीज के लिए तुरंत दुबई से दिल्ली और उसके बाद अमृतसर के लिए एक स्ट्रेचर टिकट जारी की।

सिंह दुर्घटना के वक्त साथी श्रमिकों के साथ एक मिनीवैन में यात्रा कर रहे थे। रास अल खैमाह अनुबंध कंपनी के साथ राजमिस्री के रूप में नौकरी करते हुए सिंह को केवल पांच ही दिन हुए थे। सिंह ने कहा, “मेरे सभी साथियों को गंभीर चोटे आई हैं लेकिन दुर्घटना के प्रभाव ने मुझे पूर्ण रूप से लकवाग्रस्त बना दिया है।”

दुर्घटना के कारण मेडिकल बिल और वीजा के मुद्दों ने सिंह को परेशानी में ला खड़ा किया है। श्रीधरन ने कहा कि अस्पताल का बिल 34 हजार डॉलर पहुंच गया था। उन्होंने कहा कि मामले में शामिल कानूनी फर्म ने राशि का भुगतान करने के लिए अस्पताल को वचन दिया है। सिंह का वीजा भी समाप्त हो गया था और वह वहां पिछले पांच दिनों से गैरकानूनी रूप से रह रहे थे।

Related Articles