दीवानगी ऐसी कि प्‍यार में सरहद पार पाकिस्‍तान पहुंच गया ये आशिक

मुंबई कहते हैं प्‍यार की कोई परिभाषा नहीं होती। प्‍यार ऊंच-नीच देखकर नहीं किया जाता। यहां तक मोहब्‍बत की कोई सीमा नहीं होती। प्‍यार सरहदों की हर दीवार को तोड़ देता है। ऐसी ही प्‍यार की अनोखी दास्‍तान है मुंबई में रहने वाले हामिद की। हामिद की फेसबुक पर एक पाकिस्‍तानी लड़की से दोस्‍ती हुई। दोस्‍ती प्‍यार में तब्‍दील हुई। दूरियां मोहब्‍बत के बीच आने लगी। तो हामिद लड़की से मिलने पाकिस्‍तान चला गया और तब से वह लापता है। अब उसके माता-पिता ने अपने बेटे को खोजने में पाकिस्तान के मीडिया दिग्गज हमीद हारून की मदद मांगी है।

12422011_981121908626198_1332453217_o

पाकिस्‍तानी मीडिया से मांगी मदद

हामिद के पिता निहाल अंसारी बैंक के रिटायर्ड अधिकारी हैं और माता फौजिया मुंबई के एक कॉलेज में लेक्‍चरर हैं। इन्‍होंने पाकिस्‍तान के सबसे लोकप्रिय अंग्रजी अखबार डॉन मीडिया समूह के सीईओ हारून से मिलकर अपने बेटे का पता लगाने में उनसे मदद मांगी है। ऑबजर्वर रिसर्च फाउंडेशन (ओआरएफ) के कार्यालय में आयोजित संवाद सत्र के दौरान यह मुलाकात हुई। हारून ने कहा कि वह पाकिस्तान में अधिकारियों से बात करेंगे। मीडिया और मानवाधिकार समूहों से भी संपर्क करेंगे। ORF अध्यक्ष सुधीन्द्र कुलकर्णी ने कहा कि हामिद का पता लगाने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा।

क्‍या थी हामिद और पाकिस्‍तानी प्रेमिका की प्रेम कहानी

इन प्रेमियों की मुलाकात सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर हुई। हामिद हिंदुस्‍तानी था और उसकी प्रेमिका पाकिस्‍तानी। काफी दिन दोनों ने फेसबुक के जरिए इश्‍क फरमाया। फिर जब मोहब्‍बत बढ़ी तो दूर नहीं रहा गया। हामिद ने लड़की और उसके माता-पिता से मिलने के लिए पाकिस्‍तान जाने का फैसला किया। वह टूरिस्‍ट वीजा पर अफगानिस्तान गया और वहां से अवैध तरीके से पाकिस्तान के खबर पख्तूनख्वा प्रांत में प्रवेश कर गया। जिसके बाद से उसकी कोई खबर नहीं मिली और वह लापता हो गया।

दो साल बाद मिली जानकारी

हामिद के लापता होने के करीब दो साल बाद उसके माता-पिता के कई प्रयासों के कारण उसकी पहली खबर मिली। एक पाकिस्तानी पत्रकार जीनत शाहजादी ने सितंबर में पुष्टि की कि उनका बेटा पड़ोसी देश पाकिस्‍तानी पुलिस की गिरफ्त में है। जिसके बाद से हामिद के माता पिता ने पाकिस्‍तान की मीडिया से मदद की गुहार लगाई है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button