महिलाओं को नौकरी पर रखने के कारण पेरिस पर लगा जुर्माना

फ्रांस के कानून ​विभाग ने पेरिस सिटी हॉल में बड़े पदों पर ज्यादा महिलाओं की नियुक्ति के लिए 90 हजार यूरो यानि 80,46,720 रुपये का जुर्माना लगाया है

फ्रांस: फ्रांस के कानून ​विभाग ने पेरिस सिटी हॉल में बड़े पदों पर ज्यादा महिलाओं की नियुक्ति के लिए 90 हजार यूरो यानि 80,46,720 रुपये का जुर्माना लगाया है। इन महिलाओं की नियुक्ति वर्ष 2018 में हुई थी, इसपर कानून विभाग ने कहा कि पुरुषों और महिलाओं की नियुक्ति में फर्क, लैंगिक संतुलन को खराब करता है।

2018 में हुई नियुक्ति में 11 महिलाओं और 5 पुरुषों को नियुक्त किया गया था। इस तरह से 69 प्रतिशत अपॉइंटमेंट महिलाओं का रहा, ये सभी नियुक्ति साल 2013 के उस नियम की अनदेखी है, जिसे सुवादेत लॉ कहते हैं। इस नियम के मुताबिक किसी भी सरकारी विभाग में 40 प्रतिशत नियुक्ति महिलाओं, और इतनी ही नियुक्ति पुरुषों की होनी चाहिए।

ये नियम इस वजह से बना ताकि सिविल सर्विस में ऊंचे पदों तक महिलाओं की भी पहुंच रहे, साथ ही साथ इससे ये भी सुनिश्चित करने की कोशिश हुई कि किसी विभाग में 60 प्रतिशत तक एक ही जेंडर न हो जाए। ये सारे नियम सरकार में महिलाओं की पहुंच और आवाज़ ऊपर करने के लिए बनाए गए।

साल 2019 में इस नियम में एक संशोधन भी हुआ, इसके साथ ये तय हुआ कि अगर किसी भी सरकारी विभाग में कोई एक जेंडर लगभग 60 प्रतिशत जगह ले तब उस विभाग को जुर्माना देना होगा। इस नियम के अंतर्गत ही पेरिस के सिटी हॉल पर जुर्माना ठोक दिया गया।

यह भी पढ़े: मूल्यवृद्धि और अन्य मुद्दों को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन

Related Articles