पर्रिकर: गोवा में सिर्फ केटामाइन का भंडारण होता है

0

नई दिल्ली। राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) द्वारा उत्तर गोवा में केटामाइन के निर्माण के खुलासे के बाद राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने शुक्रवार को विधानसभा में कहा कि राज्य में केटामाइन का सिर्फ भंडारण होता है। प्रश्नकाल में विपक्ष के नेताओं ने पर्रिकर पर मादक पदार्थ के खतरे को कम करने के लिए पर्याप्त कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया।

इसके जवाब में पर्रिकर ने यह भी कहा कि डीआरआई (राजस्व खुफिया निदेशालय) ने गोवा में छापा मारने के संबंध में राज्य सरकार को आधिकारिक जानकारी नहीं दी थी।

पर्रिकर ने कांग्रेस विधायक लुइजिन्हो फलेरियो के जवाब में कहा, “जब किसी मामले में कई राज्य शामिल हैं तो राजकीय एजेंसी को जांच करने का अधिकार नहीं है। इसकी जांच के लिए ऐसे मामलों की अधिकृत जांच एजेंसी डीआरआई है।”

डीआरआई को छापे में गोवा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पदाधिकारी वसुदेव परब के कारखाने पर लगभग 100 किलोग्राम केटामाइन और इसे बनाने वाला कच्चा माल बरामद हुआ था। एनआरआई जिमी संधू ने इसका उपयोग केटामाइन बनाने में किया था।

कांग्रेस विधायक प्रताप सिंह राणे द्वारा इस मामले में प्रदेश सरकार की कार्रवाई पर सवाल उठाने पर उन्होंने कहा, “मैंने डीआरआई को पत्र लिखा है। यह एक अंतर्राष्ट्रीय गिरोह है। राज्य सरकार कुछ नहीं कर सकती है.. मैं पहले ही स्पष्ट रूप से बता चुका हूं कि यह एक केंद्र सरकार की एजेंसी का विषय है, मैं इसमें हस्तक्षेप नहीं कर सकता।”

प्रतिबंधित मादक पदार्थो से प्रतिबंध हटाने की सिफारिश पर चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस ने जब गोवा के स्कूलों को मादक पदार्थ के खतरे बताए, तो उसके परिणाम उत्साहजनक नहीं मिले।

loading...
शेयर करें