सीताराम राइस मिल इंडस्ट्रीज के पार्टनरों ने हड़पी राइस मिल की रकम एफआईआर हुई दर्ज

हरदोई

जनपद के बहुत से ऐसे रसूखदार है जिनकी समाज मे एक प्रतिष्ठा है लेकिन पर्दे के पीछे यह लोग जो कृत्य करते है उनको देखकर यही प्रतीत होता है कि तमाम भ्रष्टाचार व गलत कृत्य इन्ही रसूखदार लोगो द्वारा किये जाते है।आवास विकास कालोनी निवासी सुनील कुमार गुप्ता ने हरदोई पुलिस को तहरीर दी है तहरीर से मिली जानकारी के अनुसार बिलग्राम रोड तासखेड़ा में सीताराम इंडस्ट्रीज नाम से राइस मिल है जिस राइस मिल में साझेदार के रूप में श्रवण कुमार गुप्ता,नीरज गुप्ता,किरण गुप्ता, गौरब गुप्ता वादी सुनील कुमार गुप्ता के साथ साथ पंजीकृत है।उपरोक्त राइस मिल की दो करोड़ साठ लाख रूपये की बैंक लिमिट भी बनी हुई है।

वादी सुनील कुमार गुप्ता वर्ष 2017 में बेहद बीमार हो गए जिस कारण सुनील कुमार गुप्ता लगभग दो महीने तक अपनी राइस मिल नही जा पाए ज़ब वादी सुनील कुमार गुप्ता स्वस्थ्य होने के उपरांत अपनी राइस मिल गए तो पाया कि उसके चारो साझेदारो ने करोड़ो रूपये के गेंहू,चावल,धान को बेचकर लगभग साढ़े सात करोड़ रुपये का गवन किया व बैंक लिमिट से भी रुपये के लेनदेन में गड़बड़ी की है।जब वादी ने अपने साझेदार लोगो से गवन के बारे में बात की तो पहले से पैसा वापस करने के लिए एक वर्ष का समय मांगा गया लेकिन पैसा वापस नही किया गया जब वादी सुनील कुमार गुप्ता ने अपने साढ़े सात करोड़ रुपये के लिए समाजिक दवाब बनाना तब उपरोक्त साझेदार धमकी देने लगे।

आपको बताते चले कि पीड़ित सुनील कुमार गुप्ता अब न्याय पाने के लिए हरदोई पुलिस की शरण मे पहुँचा है पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है व विवेचना शुरू कर दी है जांच के बाद यह साफ हो पाएगा कि वादी द्वारा लगाए गए आरोपो में कितनी सच्चाई है लेकिन प्राप्त दस्तावेज यह दर्शाते हैं कि करोड़ो रुपये का गवन किया गया है लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि हरदोई पुलिस के हाथ इन रसूखदार लोगो के गिरेवान तक कब पहुचेंगे और पीड़ित सुनील कुमार गुप्ता को उसके करोड़ो रूपये कब मिलेंगे

Related Articles