एक व्यक्ति की मौत से पासवर्ड ‘गायब’, लोगों के 1000 करोड़ रुपए फंसे

0

नई दिल्ली: कनाडा के सबसे बड़े क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज में से एक क्वाड्रिगा के मुख्य कार्याधिकारी व सह संस्थापक गेराल्ड विलियम काटेन की यहां हुई मौत चर्चा में है। काटेन की मौत के बाद इस एक्सचेंज में हजारों ग्राहकों की 14.5 करोड़ डालर की भारी भरकम आभासी मुद्रा यानी बिटक्वाइन फंस गयी है क्योंकि इसका पासवर्ड किसी और को पता नहीं। काटेन की लगभग दो महीने पहले दिसंबर माह में यहां एक निजी अस्पताल में मौत हो गयी।

जवाहर सर्किल पुलिस थाने के थानाधिकारी अनूप सिंह ने कहा, ‘उन्हें फोर्टिस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था जहां उनका नौ दिसंबर को निधन हो गया। हमने 10 दिसंबर को उनकी पत्नी जेनिफर कैथलीन मार्गरेट राबर्टसन को अनापत्ति प्रमाण पत्र एनओसी जारी कर दिया ताकि वे उनके पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए ले जा सकें।’

अस्पताल के प्रवक्ता के अनुसार गेराल्ड को आठ दिसंबर को डायरिया के लक्षणों के साथ भर्ती करवाया गया था। लेकिन उन्हें ह्रदयाघात हुआ और अगले दिन उनकी मौत हो गयी। काटेन की मौत यहां के सरकारी रिकार्ड में भी इंद्राज है। गेराल्ड क्वाड्रिगा के सीईओ व सह संस्थापक थे।

इस कंपनी के वालेट में लगभग 14.5 करोड़ डालर बिटक्वाइन के रूप में थे जो बाकी लोगों की पहुंच से बाहर हो गये हैं क्योंकि उसका पासवर्ड किसी और को पता नहीं है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार काटेन (30) यहां एक अनाथालय खोलना चाहते थे और उसके लिए जगह तलाश रहे थे। कंपनी की वेबसाइट पर चस्पां एक संदेश के अनुसार वह कोल्ड वालेट तक नहीं पहुंच पा रही है इसलिए फिलहाल परिचालन करने की स्थिति में नहीं है।

loading...
शेयर करें