पेप्वाइंट इंडिया ने बैंकिंग सेवाओं के दायरे को बढ़ाने के लिए BOB के साथ साझेदारी की

लखनऊ: वित्तीय समावेशन की दिशा में एक बड़ा कदम उठाते हुए, पेप्वाइंट इंडिया ने भारत के अग्रणी बैंकों में से एक बैंक ऑफ बड़ौदा के साथ साझेदारी की घोषणा की है। इस साझेदारी के तहत, देश भर में बिजनस कॉरेस्पोंडेट (बीसी) मॉडल के जरिए बैंकिग सेवाएं मुहैया कराई जाएंगी।

वाणिज्यिक बैंकों को दूरदराज के स्थानों और छोटे केंद्रों पर स्वामित्व वाली शाखाओं को स्थापित करना अव्यावहारिक लग रहा है, लेकिन पेप्वाइंट इंडिया के पास अपने विशाल और लगातार फैल रहे वितरण नेटवर्क के माध्यम से सुदूर क्षेत्रों में भी वित्तीय और भुगतान सेवाओं को पहुंचाने की विशेषज्ञता हासिल है। इसके जरिए लगभग सभी आवश्यक बैंकिंग सेवाओं को बीसी ग्राहक सेवा केंद्रों के माध्यम से मुहैया कराया जा सकता है।

कॉमर्शियल बैंकों के अलावा, बीमा कंपनियों, दूरसंचार कंपनियों, बिजली बोर्डों और यहां तक कि आईआरसीटीसी समेत कई प्रसिद्ध सेवा प्रदाता, पूरे भारत में अपने ग्राहकों तक पहुंचने के लिए पेप्वाइंट इंडिया के नेटवर्क का उपयोग करते हैं।

Bob के वित्तीय समावेशन के अपने सामाजिक दायित्व

वहीं सार्वजनिक क्षेत्र के एक बैंक के रूप में बैंक ऑफ बड़ौदा अपनी दक्षता और ग्राहक-अनुकूल रवैये के लिए जाना जाता है। बैंक को सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा निर्धारित वित्तीय समावेशन के लक्ष्यों को हासिल करना है और इस साझेदारी के माध्यम से बैंक ऑफ बड़ौदा वित्तीय समावेशन के अपने सामाजिक दायित्व को और अधिक आसानी से पूरा करने में सक्षम होगा क्योंकि पेप्वाइंट इंडिया कई बैंकों के लिए एक अनुभवी बिजनस कॉरेस्पॉडेंट है और वह वित्तीय समावेशन के लक्ष्य को पूरा किए जाने के मामले में बैंक की मदद कर सकता है।

पेप्वाइंट इंडिया कई सेवाएं प्रदान करेगा

बैंक ऑफ बड़ौदा के लिए अपने विशिष्ट बीसी ग्राहक सेवा बिंदुओं पर पेप्वाइंट इंडिया कई सेवाएं प्रदान करेगा और बचत बैंक/पीएमजेडीवाई खाते खोलने के साथ निकासी, जमा और धन हस्तांतरण सेवाएं और कई अन्य सेवाएं प्रदान करेगा, जिसमें पासबुक प्रिंटिंग, आरडी खाता खोलना, सावधि जमा खाते खोलना, ऋण भुगतान, अन्य बैंकों के खाताधारकों के लिए एईपीएस और एम-एटीएम निकासी और भारत सरकार की सामाजिक सुरक्षा योजनाएं आदि शामिल हैं।

 

Related Articles