इस यूरेशियन राइनेक पक्षी के अंधविश्वास के बारे में दुनियाभर के लोग करते है विश्वास

आपने हर बार देखा होगा कि जब भी बिल्ली रास्ता काटती हैं तो लोग रास्ते में चलते हुए अचानक रूक जाते हैं जिसे हमारे देश में अंधविश्वास के तौर पर देखा जाता हैं। यहां तक कि लोग छींकने तक को भी अंधविश्वास की श्रेणी में रखते हैं। कई लोग यह भी मानते हैं कि १३ तारीख अगर शुक्रवार को पड़ जाए तो उस दिन बहुत बुरा हादसा होगा और किसी इमारत के १३वीं मंजिल पर रहना खतरे से खाली नहीं है। हालाँकि इन बातों में कोई तुक नहीं होता मगर लोग आज भी इस तरह के अंधविश्‍वासों को मानते हैं। इससे ये तो साफ दिखता है कि अंधविश्‍वास को खत्म करने की कोशिशों के बावजूद इसका जाल आज भी फैला हुआ है। हम हमेशा यही सोचते हैं कि अन्धविश्वास सिर्फ हमारे देश में ही हैं जबकि ऐसा नहीं हैं।

यूरेशियन राइनेक, ये एक दुर्लभ प्रजाति का पक्षी होता है, जो ज्यादातर यूरोपीय और कुछ एशियाई देशों में पाया जाता है। इस प्रजाति को दुनिया का सबसे मनहूस पक्षी माना जाता है। यूरोप में पाए जाने वाले इस पक्षी की सबसे बड़ी खासियत होती है कि ये अपना सिर हर तरफ घुमा सकते हैं| लेकिन इनके बारे में ये भी कहा जाता है कि राइनेस जिस भी व्यक्ति की ओर अपना सिर घुमाते हैं, उसकी मौत हो जाती है।

Related Articles