राजधानी में लोग झेल रहे दोहरी मार, एक तरफ प्रदूषण तो दूसरी तरफ कोरोना का वार

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में लोगों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। एक तरफ लोग कोरोना से परेशान हैं तो दूसरी प्रदूषण की मार झेलनी पड़ रही है। दिल्ली में कोरोना और प्रदूषण तेजी से बढ़ रहा है। मंगलवार को वायु गुणवत्ता फिर से बेहद खराब श्रेणी में आ गई। दोपहर एक बजे दिल्ली का AQI 371 दर्ज किया गया।

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार राजधानी के आनंद विहार, आईटीओ, चांदनी चौक, ओखला फेज-2 सहित कईं अन्य इलाकों में वायु गणवत्ता सूचकांक 400 से ऊपर रहा। इन स्थानों पर वायु की गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में रही। इसके अलावा राजधानी से सटे गाजियाबाद में भी वायु गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में रही और यहां सीपीसीबी के विभिन्न निगरानी केंद्रों में पूरे जिले में AQI 400 से अधिक दर्ज किया गया था। इसी तरह नोएडा में चार केन्द्रों में से दो में वायु गुणवत्ता 400 से अधिक दर्ज किया गया जबकि अन्य दो सेंटरों में यह 350 से ऊपर रहा।

दिल्ली में न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया और आर्द्रता 95 प्रतिशत मापी गयी। मौसम विभाग के अनुसार दिन में अधिकतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है, जबकि सोमवार को अधिकतम तापमान 25.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था।

पिछले 24 घंटे में 8512 नए मामले

दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 8512 नए मामले सामने आए है। जबकि 24 घंटे में कोरोना से 121 लोग अपनी जान गांवा चुके हैं। ऐसे में दिल्ली में लोग एक तरफ कोरोना से परेशान है तो दूसरी तरफ प्रदूषण मार की झेल रहे हैं। और इसको लेकर दिल्ली की केजरीवाल सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठा पा रही है।

यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य मंत्री सुधाकर का दावा ‘कर्नाटक कोरोना वैक्सीन को लोगों तक पहुंचाने के लिए पूरी तरह तैयार’

Related Articles