‘होली (Holi) पर लोग किसी को शराब न दे, बल्कि गंगाजल की बोतल दें’

उत्तर प्रदेश में जिले मेरठ के नौचंदी थाने के इंचार्ज शिकायत लिखाने आने वाले लोगों को होली (Holi) के त्योहार के उपलक्ष्य में गंगाजल की बोतल बांट रहे हैं

लखनऊ: होली (Holi) के त्योहार ने अपनी दस्तक दे दी है। देश भर में होलिका दहन (Holika Dahan) करने की तैयारियां कि जा रही है। रंगो से भरा होली का त्योहार अपने साथ खुशियां ले कर आता है। बच्चे हो या बड़े हर किसी को होली का रंग खेलना अच्छा लगता है। लेकिन कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलो ने होली के रंग को फीके कर दिए हैं। जिसे कम करने के लिए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जिले मेरठ में थाने के इंचार्ज ने शिकायत लिखाने के लिए आने वाले लोगों को होली के त्योहार के उपलक्ष्य में गंगाजल की बोतल बांट रहे हैं।

गंगाजल सैनिटाइजर है

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में जिले मेरठ (Meerut) के नौचंदी थाने के इंचार्ज शिकायत लिखाने आने वाले लोगों को होली (Holi) के त्योहार के उपलक्ष्य में गंगाजल की बोतल बांट रहे हैं। नौचंदी पुलिस थाने के इंचार्ज ने बताया, होली पर लोग किसी को शराब न दे, बल्कि गंगाजल की बोतल दे। गंगाजल सैनिटाइजर है। इसका छिड़काव करे।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद  ICMR  के मुताबिक 27 मार्च तक पूरे देश भर में 24,09,50,842 कोरोना टेस्ट (Corona Test) किए गए हैं।

कोरोना रंग (Corona color)

होली के रंगो से बाजार सज उठे हैं। लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते मामलो के कारण होली के रंग इस बार फिकी पड़ती हुई नजर आ रही है। जिसे रोकने के लिए यूपी के जिले प्रयागराज में दुकानदारों ने कोरोना रंग और कोविड केमिकल से भरी पिचकारियों को बाजारों में बेच रहे हैं। ताकि लोगों को कोरोना का संक्रमण नहीं हो।

कोविड से संबधित पिचकारियां

उत्तर प्रदेश में कोरोना के चलते होली के लिए प्रयागराज (Prayagraj) के दुकानों में कोरोना रंग (Corona color) और पिचकारियां मिल रही हैं। एक दुकानदार ने बताया कि, लगभग सभी पिचकारियां कोविड (Covid) से संबंधित हैं। रंगों में कोविड केमिकल का इस्तेमाल हुआ ताकि किसी को कोरोना न हो सके। इस बार नई चीजों के साथ होली (Holi) खेली जाएगी।

यह भी पढ़ेMumbai: समुद्र तट और पार्क इस समय तक रहेंगे बंद, उल्लंघन करने पर 1000 रुपये का लगेगा जुर्माना

Related Articles

Back to top button