‘झंडे लहराते हुए लोग नाइजीरियन राष्ट्रगान गा रहे थे और उन्हें गोली मार दी’

शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वे देश को झकझोरने वाले लागोस हमले के बाद भी पुलिस की बर्बरता और अन्याय के खिलाफ अपनी लड़ाई नहीं छोड़ेंगे।

लेगोस: नाइजीरिया में पिछले कुछ घंटों से मातम का माहौल है। राजधानी लेगोस में पुलिस की SARS इकाई के विरोध में  प्रदर्शन जारी है। पुलिस ने बर्बरता से शांति से प्रदर्शन कर रहे लोग़ों पर जबरन गोली चला दी। इसके प्रत्यक्षदर्शी 28 वर्षीय एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि कुछ सैनिक प्रदर्शन कर रहे लोगों की भीड़ में पहुंच गए और मंगलवार को पहले से लगाए गए कर्फ्यू के अनुपालन करने का कहते हुए उन्होंने प्रदर्शन और विरोध छोड़ने के लिए कहा। जब पुलिस की बर्बरता को समाप्त करने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन बंद करने से इनकार कर दिया, तो सैनिकों ने हवा में गोलीबारी शुरू कर दी, इसके तुरंत बाद उनकी बंदूकें प्रदर्शनकारियों की तरफ घूम गईं।

ये दर्दनाक दास्ताँ है नाइजीरिया की जो खुद उस प्रदर्शन का हिस्सा रहे 28 वर्षीय युवक ने मीडिया को सुनाई है। बता दें की नाइजीरिया की आर्थिक राजधानी लेगोस में पुलिस की एक भंग इकाई का भंग करने के पूर्व से प्रदर्शन चल रहा था। जिसको ख़त्म करने को लेकर नाइजीरियन पुलिस बल ने प्रदर्शनकारियों पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी।

हम शांतिपूर्ण थे उन्होंने गोली चला दी 

28 वर्षीय अगबला फैबिया ने मीडिया को बताया कि ‘हमने कभी नहीं सोचा था कि वे हम पर गोली चलाना शुरू कर देंगे क्योंकि हम शांतिपूर्ण थे और हथियार नहीं ले जा रहे थे, ”उन्होंने बुधवार को जो हुआ उससे वो हिले हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘हमें इस बात की उम्मीद नहीं थी कि सैनिकों ने हमें खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले फेंकेंगे।

फैबिया ने बताया की आंसू गैस के गोले देख उसने जल्दी से जमीन पर चेहरा रखा। कुछ समय बाद, वह रेंगकर वहां से बचकर निकला।

वीडियो में प्रदर्शनकारी नाइजीरियाई झंडे लहराते हुए

कुछ घंटों पहले ट्विटर पर साझा एक वीडियो में प्रदर्शनकारी नाइजीरियाई झंडे लहराते हुए, राष्ट्रगान और एकजुटता के गीत गाते हुएदिख रहे हैं और पुलिस की बर्बरता के शिकार लोगों के नामों का जाप कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें : नाइजीरिया में प्रदर्शनकारियों पर सुरक्षा बलों की गोलीबारी, कई लोगों की हुई मौत

 

Related Articles

Back to top button