IPL को लेकर High Court में याचिका दायर, इतने करोड़ रुपये हर्जाने की मांग

मुंबई: कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के बाद IPL 2021 को टाल दिया गया है। इसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को एक और झटका लगा है। IPL को लेकर बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) में जनहित याचिका दायर की गई। याचिका में एक हजार करोड़ रुपये हर्जाना देने की मांग भी की गई है।

1000 करोड़ हर्जाने की मांग में याचिका

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में वकील वंदना शाह ने एक याचिका दायर की है। जिसमें उन्होंने कोरोना काल में IPL के आयोजन के लिए BCCI से एक हजार करोड़ रुपये हर्जाना देने की मांग की है। इसके साथ ही याचिका में कहा गया है कि IPL 2021 के अपने मुनाफे में से BCCI कोरोना का इलाज कर रहे अस्पतालों को दान करे।

याचिका में क्या कहा गया?

वकील वंदना शाह ने जो याचिका दायर की है उसमें जनता के प्रति BCCI की जवाबदेही पर सवाल उठाया और कहा कि बोर्ड को अपनी लापरवाही के लिए बिना शर्त माफी मांगने का आदेश दिया जाना चाहिए। वंदना शाह ने कहा कि वह खुद खेल की फैंस हैं, लेकिन ऐसे मुश्किल समय में लोगों की जान ज्यादा जरूरी है।

याचिका में कहा गया है कि IPL के खिलाड़ी भले ही बयो बबल में हों, कोरोना से संक्रमित होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है और ऐसी स्थिति में प्रसार अधिक होगा, क्योंकि खिलाड़ी सामाजिक दूरी और प्रोटोकॉल का पालन नहीं करते हैं।

IPL टलने के बाद भी मांग पर अड़ीं याचिकाकर्ता

कोरोना के कहर और याचिका दायर होने के कुछ देर बाद ही BCCI ने IPL को टाल दिया था, लेकिन इसके बावजूद भी याचिकाकर्ता अपनी मांग पर अड़ीं हैं। याचिकाकर्ता वंदना शाह का कहना है कि टूर्नामेंट के टलने के बाद भी वह कोर्ट से BCCI पर 1000 करोड़ रुपये हर्जाना और बिना शर्त माफी मांगने की मांग करेंगी। फिलहाल इस मामले की 6 मई को बॉम्बे हाई कोर्ट सुनवाई करेगी।

ये भी पढ़ें: Corona की दूसरी लहर से निपटने के लिए RBI ने इतने हजार करोड़ की मदद का किया ऐलान

Related Articles