भारत और चीन के विदेश मंत्रियों के बीच फोन पर हुई बातचीत, तनाव कम करने के लिए हुए रजामंद

नई दिल्लीः भारत और चीन के विदेश मंत्रियों के बीच गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प और सीमा विवाद को लेकर बातचीत हुई है. जानकारी के मुताबिक भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने भारत-चीन सीमा विवाद पर चर्चा की और ऐसी खबर है कि दोनों देशों के बीच सीमा पर तनाव कम करने पर रजामंदी बनी है. एलएसी पर तनाव को लेकर दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच चर्चा हुई.

चीन के विदेश मंत्रालय का इस बातचीत के बाद बयान आया है कि सीमा पर तनाव कम करने के लिए दोनों देश के बीच आपसी सहमति बनी है. ये खबर चीन की तरफ से आई है कि भारत और चीन के विदेश मंत्रियों के बीच फोन पर बातचीत हुई है.

दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हैं कि भारत-चीन के बीच सैन्य लैवल की जो बैठकें अब तक हुई हैं उनमें हुई चर्चा के आधार पर आगे बढ़ा जाए.

इससे पहले आज पीएम मोदी ने कहा कि भारत शांति चाहता है और अपने पड़ोसियों के साथ हमेशा हमने मित्रता और सहयोग का व्यवहार रखा है लेकिन अगर भारत की अखंडता और संप्रभुता पर बात आएगी तो इसका उचित जवाब दिया जाएगा.

इससे पहले आज दोपहर 12 बजे के आसपास खबर आई थी कि भारत और चीन के बीच सैन्य स्तर की बातचीत को रोक दिया गया है. रक्षा मंत्री ने नियंत्रण रेखा पर हालात की समीक्षा की है. साथ ही सेना की एलएसी पर निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए गए है. सूत्रों के मुताबिक रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेना प्रमुखों (सेना, नौसेना और वायु सेना) और चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के साथ बैठक की है. उन्होंने मौजूदा स्थिति पर भी विदेश मंत्री एस. जयशंकर से भी बात की है.

Related Articles