शारीरिक संबंध और ओरल सेक्स से फ़ैल सकती है यह बीमारी, AIDS से भी ज्यादा है खतरनाक

0

असुरक्षित यौन संबंध या शारीरिक संबंध से फैलने वाले कई तरह के इन्फेक्शन तथा बीमारियों के बारे में तो सुना ही होगा, लेकिन अब एक ऐसी नई जानलेवा बीमारी सामने आ रही है जिसकी वजह से डाक्टरों की नींद उड़ी हुई है। शारीरिक संबंध बनाने से फैलने वाली इस बीमारी का नाम माइकोप्लाज्मा जेनिटैलियम (एमजी या एमजेन) है। दावा किया जा रहा है की यह बीमारी AIDS से भी ज्यादा खतरनाक है।

यह बीमारी यूरोप में तेजी से फ़ैल रही है। डॉक्टरों का मानना है कि यदि इसका कारगर इलाज नहीं खोजा गया तो अगले पांच साल में यह सुपरबग का रूप धारण कर लेगी। सूत्रों के अनुसार एमजी शारीरिक संबंध बनाने से या जननांगों के संपर्क से फैलता है। फीसदी में लोगों में यह बीमारी सहवास या शारीरिक संबंध बनाने से ही फैलती है।

अगर बात करें इस बीमारी के ईलाज की तो इसे एंटीबॉयोटिक्स की एक निश्चित डोज देकर ठक बीमारी का इलाज किया जा सकता है लेकिन कुछ मामलों में सही इलाज न मिल पाने के कारण इस घातक बीमारी को काबू कर पाना मुश्किल हो जाता है। यह बीमारी जानलेवा भी साबित होती जा रही है।

माइकोप्लाज्मा जेनिटैलियम?

माइकोप्लाज्मा के कारणों की पहचान नहीं हो पाई है, लेकिन यह बीमारी पूरी तरह से नई नहीं है। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, 1980 में पहली बार इस बीमारी की पहचान की गई थी। यह बीमारी chlamydia और gonorrhea जैसी ही है। लेकिन इसके लक्षण की बात करें तो chlamydia के लक्षणों के साथ ही इसमें शारीरिक संबंध बनाने के बाद ब्लीडिंग, इरीटेशन और पेशाब करने में दर्द होना शामिल है।

इस बीमारी में इससे प्रभावित लोगों को बांझपन, जननांगों में जलन और प्री मैच्योर डिलीवरी होना शामिल है। एमजी का वायरस मुख्य रूप से शारीरिक संबंध बनाने से फैलता है BASHH के अनुसार यह बीमारी ओरल सेक्स से भी फैल सकती है। दिन प्रतिदिन इस बीमारी का खतरा बढ़ता जा रहा है। शोधकर्ता इस बीमारी का ईलाज ढूँढने में लगे हुए हैं।

loading...
शेयर करें