IPL
IPL

शादी का झांसा देकर बनाता रहा शारीरिक सम्बन्ध, प्रेमिका शिकायत लेकर पहुंची SSP ऑफिस

बुलंदशहर: उसे एक लड़की से प्यार था, उसने उसे जिंदगी भर साथ रहने का भरोसा दिया। शादी का झांसा देकर जिस्मानी नजदीकियां भी बढ़ाई। लेकिन पुलिस में नौकरी लगने के बाद उसके रंग बदल और वह उससे दूर जाने लगा। लड़की को उसकी बेवफाई साफ नजर आने लगी तो वह सीधे SSP से शिकायत करने SSP दफ्तर पहुंच गई। लड़का सिपाही था, फौरन उसे SSP ऑफिस में तलब कर लिया गया। इसके बाद उसे जब जेल भेजे जाने की बात कही गई तो वह डरकर शादी के लिए तैयार हो गया। फिर क्या था, दोनों की शादी वहीं SSP ऑफिस में ही करा दी।

 

एसएसपी ऑफिस बना शादी का मंडप

दरअसल ये मामला बुलंदशहर का है, जहां एसएसपी का दफ्तर ही शादी का मंडप बन गया। बुलंदशहर के स्याना की रहने वाली काजल अपने सिपाही प्रेमी गौरव की बेवफाई की शिकायत लेकर सोमवार को एसएसपी बुलंदशहर सन्तोष कुमार सिंह के पास पहुंची। एसएसपी ने प्रेमिका की शिकायत सुनकर प्रेमी सिपाही को जेल भेजने का डर दिखाया तो प्रेमी जेल से बचने के लिए शादी के लिए राजी हो गया।

फिर क्या था दफ्तर में ही एसएसपी ने जयमाला मंगाई, इतना ही नहीं शादी की खुशियां बांटने के लिए मिठाई भी मंगाई और तुरंत एसएसपी कार्यालय में ही जयमाला पहनाकर दोनों की शादी कराई गई। इस शादी के गवाह पुलिस स्टाफ के साथ एसएसपी कार्यालय में मौजूद फरियादी और पत्रकार भी बने। इसके साथ ही दूल्हा दुल्हन के डॉक्युमेंट कोर्ट मैरिज के लिए पुलिस ने वकील को सौप दिए है, ताकि इस शादी को कानूनी तौर पर माना जा सके। बाकायदा पुलिस और फरियादियों ने दूल्हा -दुल्हन को पुलिस ऑफिस से आशीर्वाद देकर विदा किया।

तीन साल से चल रहा था प्रेम-प्रसंग

काजल के मुताबित पिछले तीन साल से गौरव के साथ उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था। काजल ने आरोप लगाया है, कि गौरव ने शादी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाता रहा। उसी दौरान गौरव की यूपी पुलिस में नौकरी लग गई और उसने काजल के फोन का जवाब देना बंद कर दिया। इसी बात से खफा काजल अपने परिवार के साथ एसएसपी दफ्तर पहुंची और एसएसपी से शिकायत कर दी। जैसे ही इसकी सुचना गौरव तक पहुंची तो वह भागते-भागते एसएसपी दफ्तर पहुंच गया। एसएसपी ने प्रेमी- प्रेमिका को समझा बुझा कर दोनों को महिला सेल भेज दिया। जहां दोनों की शादी करा दी गई।

प्रभारी महिला सेल ओम लता यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि जयमाला की रस्म पूरी हो चुकी है। शादी को कानूनी रूप देने के लिए कोर्ट मैरिज की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। फिलहाल शादी करवाकर जयमाला की रस्म के बाद दोनों पति पत्नी को विदा कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: फुटपाथ पर दुकानदारी का तामझाम, सड़कों पर लगता है जाम, नगर परिषद् को कोई नहीं काम 

 

Related Articles

Back to top button