राम रहीम के बाद अब राधे मां के भी काले कारनामों से उठा पर्दा, हाईकोर्ट ने कसा शिकंजा

0

नई दिल्ली: विवादित धर्मगुरु आसाराम और डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख बाबा गुरप्रीत राम रहीम को उनके कुकर्मों की सजा मिल गई है और दोनों सलाखों के पीछे पहुंच गए हैं। राम रहीम के दोषी ठहराए जाने के बाद सोशल मीडिया पर यह सवाल जन्म लेता दिखाई दे रहा है कि आखिर अब किसकी बारी है। अब इस सवाल का जवाब भी मिल गया है। दरअसल, बताया जा रहा है कि बाबा राम रहीम के बाद अब खुद को देवी का अवतार बताने वाली राधे मां का नंबर है।

दरअसल, पंजाब के फगवाड़ा निवासी सुरेंद्र मित्तल ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। जिसमें उसने कहा कि पंजाब की कपूरथला थाने की पुलिस राधे मां के खिलाफ एफआईआर नहीं दर्ज कर रही। राधे मां के खिलाफ शिकायत करने के लिए वह कई बार थाने गया लेकिन पुलिस ने हर मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया। इस याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने कपूरथला पुलिस को कड़ी फटकार भी लगाई है।

यह भी पढ़ें: जेल में बंद राम रहीम असली है या नकली….चल गया सच्चाई का पता

अदालत ने पुलिस को फटकार लगाते हुए जवाब मांगा है कि आखिर पुलिस राधे मां के खिलाफ मामला दर्ज क्यों नहीं कर रही है जबकि शिकायतकर्ता कई बार थाने तक जा चुका है।  पुलिस ने पुलिस को फटकार लगाते हुए इस मामले में 13 नंबर से पहले तक जवाब देने का आदेश सुनाया है। साथ ही यह भी बताना है कि इस मामले में आपराधिक मामला बनता है या नहीं। अगर आपराधिक मामला बनता है तो अब तक इस मामले में FIR दर्ज क्यों नहीं की

यह भी पढ़ें: Indian Army की बड़ी जीत, आतंकी संगठनों ने आतंकियों की सैलरी में की भारी कटौती

सुरेंद्र मित्तल ने कुछ महीने पहले राधे मां के खिलाफ पंजाब पुलिस को शिकायत दी थी कि राधे मां उसको रात-बेरात फोन करके परेशान करती है और डरा-धमकाकर उसे अपने खिलाफ बोलने से रोकने की कोशिश कर रही है।

loading...
शेयर करें