BJP में शामिल होने को लेकर पायलट ने दिया जवाब, बोले- तेंदुलकर से की होगी बात…

BJP नेता रीता बहुगुणा जोशी के बयान कि सचिन पायलट भाजपा में आ सकते हैं, इस पर सचिन पायलट ने कहा कि हो सकता है उन्होंने सचिन तेंदुलकर से बात की हो

नई दिल्ली: BJP नेता रीता बहुगुणा जोशी (Rita Bahuguna Joshi) के कथित बयान कि सचिन पायलट भाजपा में आ सकते हैं। इस बयाने पर कांग्रेस नेता राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने पलटवार करते हुए जवाब दिया कि रीता बहुगुणा जोशी ने जो कहा कि उन्होंने सचिन से बात की है। हो सकता है उन्होंने सचिन तेंदुलकर से बात की हो। मुझसे बात करने की उनकी हिम्मत नहीं है।

केंद्र सरकार का अहंकार टूटेगा

पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने को लेकर कांग्रेस के देशव्यापी विरोध प्रदर्शन पर कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने बोला कि केंद्र सरकार का अहंकार टूटेगा। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की इस मुहिम का सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। सरकार आंख-कान बंद करके बैठी है। सरकार को पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने पड़ेंगे।

कांग्रेस पार्टी ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ आज पूरे देशभर के पेट्रोल पंपों के सामने देशव्यापी विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है।

कांग्रेस पार्टी (Congress Party) का कहना है कि महामारी के दौरान भाजपा का लूट चक्र रूकने का नाम नहीं ले रहा है, 4 मई से 9 जून के बीच 21 बार बढ़ोतरी हुई है। भाजपा आपदा में अवसर बनाकर देशवासियों को लूटना बंद करे।जब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दाम कम हैं, ऐसे समय में भाजपा का ‘लूट का अवसर’ देशवासियों के साथ अवैध वसूली जैसा कृत्य है। भाजपा अपने ‘लूट के अवसर’ को रोक कर देशवासियों को राहत पहुंचाए।

पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क बढ़ाकर देशवासियों की जेब से पैसा निकाला जा रहा है। लेकिन यह पैसा देश के विकास पर नहीं बल्कि प्रधानमंत्री के सेंट्रल विस्टा जैसे महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट्स पर फिजूलखर्ची के रूप में खर्च हो रहा है।

कांग्रेस ने कहा कि ये कैसी भाजपाई लूट है- जो सिर्फ चुनावी अवसरों पर रूक जाती है? देश सिर्फ कोरोना ही नहीं बल्कि भाजपा निर्मित आपदा ‘महंगाई’ का भी सामना कर रहा है। कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच भाजपा ने पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाकर ‘लूट’ को अवसर बनाकर भुनाया है।

यह भी पढ़ेदेश में आज चौथे दिन COVID-19 के 1 लाख से कम नए मामले, जानें क्या है आंकड़े?

Related Articles

Back to top button