पिज्जा दुकान संचालक पाकिस्तान भेजता था हथियार, अशफाक ने कबूला जुर्म

वाशिंगटन: अमेरिका (America) में पिज्जा (Pizza) की दुकान चलाने वाले युवक ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपी कामरान अशफाक पाकिस्तान (Pakistan) का ही रहने वाला है, इसने कबूल किया है कि यहां से पिज्जा दुकान की आड़ में अर्ध स्वचालित राइफल, उसके पुर्जे व समान अवैध रूप से पाकिस्तान (Pakistan) में भेजता था।

आरोपी ने जुर्म किया कबूल

पुलिस ने बताया कि आरोपी कामरान अशफाक मलिक (35) और सह आरोपी वालीद अफताब (22) अमेरिका से सामानों की अवैध तस्करी के मामले में 10 साल की सजा का काट रहे हैं। 19 दिसंबर, 2014 को अफताब इन्ही आरोपों में अपना अपराध कबूल कर चुका है। संघीय अभियोजनकर्ताओं के मुताबिक, मलिक अपर मार्लबोरो में पिज्जा की एक दुकान का मालिक है।

इतने अधिक हथियारों की होती थी बिक्री

अशफाक का घर पाकिस्तान के लाहौर में है। आफताब इसकी ही दुकान में काम करता था। अशफाक ने सितंबर और अक्तूबर 2012 के बीच कई प्रकार के हथियार- राइफल और इससे जुड़े सामानों की ब्रिक्री करने वालों से करीब 48 एआर-15 100 कारतूस की खरीद की। ऐसी विभिन वस्तुओं के निर्यात के लिए कभी जरूरी लाइसेंस नहीं लिए गए थे। अदालत में पेश किए गए दस्तावेजों के मुताबिक 28 नवंबर 2012 को यूएई के दुबई स्थित हवाईअड्डे पर जांच के दौरान बिना निर्यात लाइसेंस के पाकिस्तान में निर्यात के लिए प्रतिबंधित हथियारों के पुर्जे पैकेज में पाए जाने के बाद से इसका मामला सामने आया था।

 

Related Articles