2019 के चुनाव में एक बार फिर पीएम मोदी के सारथी बनेंगे पीके, क्या फिर दोहएगा 2014 का इतिहास ?

0

नई दिल्ली। चुनावों के रणनीतिकार प्रशांत किशोर 2019 के लोगसभा चुनावों में एक बार फिर पीएम मोदी के लिए काम करेंगे। पीके यानि प्रशांत किशोर ने ही पीएम मोदी के लिए 2014 में चुनाव की पूरी रणनीति तैयार की थी जिसका नतीजा सबके सामने है। लगता है इस बार भी इतिहास अपने आपको दोहराएगा।

प्रशांत किशोर

हाल ही में पीएम मोदी ने पीके से मुलाकात की जिससे बाद इन बातों तो जोर पकड़ लिया है कि पीके 2019 में बीजेपी के लिए काम करेंगे। सूत्रों के मुताबिक पिछले छह महीने से एक दूसरे के संपर्क में हैं। दोनों के बीच सीधा संवाद हुआ। इस बैठक में लोकसभा चुनाव में मोदी टीम में प्रशांत किशोर की भूमिका पर चर्चा हुई। खबरों के अनुसार प्रशांत किशोर की मुलाकात बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से भी हुई है।

बता दें, 2014 में पीएम मोदी को जीत हासिल करवाने के बाद बिहार में नीतीश कुमार के रणनीतिकार बने और इसके बाद उन्होंने राहुल गांधी के लिए रणनीति बनाई। लेकिन जिस तरह से उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में पार्टी को मुंह की खानी पड़ी उसके बाद से पीके पर सवाल खड़े होने लगे थे।

खबरों की मानें तो 2014 के बाद पीके का बीजेपी से अलह होने के पीछे का कारण अमित शाह थे। दोनों के बीच मनमुटाव पैदा हो गया गया। लेकिन अब लगता है सारे गिले-शिकवे भुलाकर 2019 में एक बार फिर पीके पीएम मोदी के सारथी बनेंगे।

 

loading...
शेयर करें