यूपी के अस्पतालों में ऑक्सीजन के लिए लगाए जाएंगे प्लांट, बच्चों के लिए भारी इंतजाम

लखनऊ: अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल (Navneet sehgal) ने बताया कि मुख्यमंत्री के 3टी ट्रेस, ट्रैक और ट्रीट अभियान के साथ-साथ अभिनव प्रयोग का परिणाम है कि उत्तर प्रेदश (uttar pradesh) में कोरोना नियंत्रित है। जबकि अन्य प्रदेश में मामले बढ़े है। उत्तर प्रदेश में 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 03 लाख 10 से घटकर आज 660 हो गये है। प्रतिदिन के मामले घटकर आज 26 रह गये है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से निगरानी समितियों द्वारा ट्रेसिंग के तहत घर-घर प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या में से लगभग 17.24 करोड़ लोगों का हालचाल जाना गया है। किसी प्रकार के संक्रमण के लक्षण होने पर टेस्ट के साथ-साथ मेडिकल किट भी बांटी गयी।

संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके तुरन्त इलाज

सहगल ने बताया कि प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं की जा रही है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके त्वरित इलाज किया जा सके। कल विगत 24 घंटे में 2,53,817 कोविड सैम्पल टेस्टिंग की गयी तथा अब तक 6,67,17,749 सैम्पल की टेस्टिंग की गयी है जो कि देश में सर्वाधिक है।

उन्होंने बताया कि 56 जनपदों में कोई भी कोविड का नया केस नहीं मिला है जबकि 09 जनपदों में एक भी कोविड के मामले नहीं है तथा 19 जनपदों में सिंगल डिजिट कोविड केस है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। अब तक 5,21,43,250 टीके की डोज दी जा चुकी है।

6,700 से अधिक पीकू बेड तैयार

सहगल ने बताया कि संभावित तीसरी लहर से बचने की समुचित व्यवस्था प्रदेश सरकार द्वारा की जा रही है। प्रदेश में बच्चों के लिए लगभग 6,700 से अधिक पीकू बेड तैयार कर लिये गये है। इसके साथ-साथ अस्पतालों में ऑक्सीजन की किसी प्रकार की समस्या न हो इसके लिए 550 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किये गये हैं जिनमें से 250 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो चुके हैं। शीघ्र ही सभी ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो जायेंगे।

तीसरी लहर से निपटने के लिए स्वास्थ्य उपकरण

उन्होंने बताया कि संभावित तीसरी लहर के लिए आवश्यक स्वास्थ्य उपकरण भी खरीदे जा रहे है। सहगल ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण’’ योजना के तहत 80,000 उचित मूल्य की दुकानों से निशुल्क राशन वितरित किया गया तथा आज प्रधानमंत्री द्वारा वीडियों कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से प्रदेश के पात्र व्यक्तियों से बातचीत की गयी। प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण’’ योजना के तहत माह नवम्बर तक मुफ्त राशन पात्र लोगों को उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार भी पात्र परिवारों को निशुल्क प्रति यूनिट 05 किलो राशन उपलब्ध कराया जा रहा है।

Related Articles