PM किसान सम्मान निधि योजना में फर्जीवाड़ा का खुलासा

बिहार में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में फर्जीवाड़ा का खुलासा

समस्तीपुर: बिहार के समस्तीपुर जिले मे प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत फर्जीवाड़ा कर आयकर दाता किसानों के करोड़ों रूपये लेने के मामले का खुलासा हुआ है।

योजना का लाभ

जिला कृषि पदाधिकारी विकास कुमार ने बताया कि जिले के दो लाख 25 हजार 153 किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना का लाभ मिल रहा है। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने लाभार्थी किसानों के खातों का जब आधार कार्ड से लिंक कर सॉफ्टवेयर के जरिए जांच की तब इस बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ। केन्द्र सरकार की जारी की गई लाभुकों की सूची में समस्तीपुर जिले के एक हजार 593 आयकर दाता किसानों ने फर्जीवाड़ा कर इस योजना का लाभ लिया है।

पैसों की वापसी के लिए नोटिस

विकास कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार के निर्देश पर पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे इन किसानों से पैसों की वापसी के लिए नोटिस जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि अब-तक जिले के 1593 लाभार्थियों में से 9 आयकर दाता किसानों ने इस योजना के तहत ली गई 76 हजार रुपये डीबीटी के माध्यम से भारत सरकार को लौटा दिया है।कृषि विभाग को गलत जानकारी देकर इस योजना का लाभ उठाने वाले किसानों को नोटिस जारी कर कहा गया है कि योजना के तहत मिली राशि तय समय सीमा के अंदर लौटा दे।यदि जो किसान पैसे वापस नहीं करेंगे तो उनके विरुद्ध सटिर्फिकेट केस दर्ज कराये जायेंगे।

गौरतलब है कि समस्तीपुर जिले के दो लाख 25 हजार 153 किसान पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहे है जिनमें 1593 आयकर जमा करने वाले किसानों ने भी बिचौलियों के माध्यम से आवेदन के समय जानकारी छिपाकर इसका लाभ ले लिया। एक फरवरी 2019 को केंद्र की मोदी सरकार की शुरू की गई इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत देश के छोटे और सीमांत किसानों को सालाना छह हजार रुपये की राशि दी जाती है।

यह भी पढ़ेआयकर छापों की रिपोर्ट आने पर राजनैतिक बयानबाजी शुरू

यह भी पढ़ेकेजरीवाल का बड़ा दावा, कहा- ‘कोरोना की तीसरी लहर समाप्त’

Related Articles

Back to top button