पीएम मोदी और अमित शाह ने देश की आंतरिक स्थिति पर किया मंथन

पीएम मोदी और अमित शाह ने आज यहां वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से राज्यों के पुलिस महानिदेशकों और पुलिस महानिरीक्षकों के 55वें वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लिया। सम्मेलन में देश की आंतरिक स्थिति की रूपरेखा पेश की गई।

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के समक्ष बुधवार को देश की आंतरिक स्थिति की रूपरेखा पेश की गई। पीएम मोदी और अमित शाह ने यहां वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से राज्यों के पुलिस महानिदेशकों और पुलिस महानिरीक्षकों के 55वें वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लिया। सम्मेलन में देश की आंतरिक स्थिति की रूपरेखा पेश की गई।

प्रधानमंत्री ने पिछले सम्मेलनों के बिंदुओं के आधार पर किए गए कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने देश में आंतरिक स्थिति की भी समीक्षा की और इसमें सुधार लाने के बारे में चर्चा की। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए नई पहल करने के लिए भी कहा। इससे पहले अमित शाह ने अपने उद्घाटन भाषण में राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित नीतिगत मुद्दों का उल्लेख किया और संकट तथा आपदा प्रबंधन में पुलिस की भूमिका की सराहना की। उन्होंने जोर देकर कहा की आतंकवाद को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए।

ये भी पढ़े : आईएसएल का सातवां सीजन: स्टीफन इजे ने जमशेदपुर को दूसरी हार से बचाया

नागरिकों की सुरक्षा और सम्मान सुनिश्चित करने की जरूरत पर बल देते हुए उन्होंने आपात स्थितियों और आपदाओं से निपटने के लिए पुलिस बलों की क्षमता निर्माण की जरूरत पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मामले में सुरक्षा एजेंसियों के बीच तालमेल होना बहुत जरूरी है। इस बार इस सम्मेलन का आयोजन गुप्तचर ब्यूरो ने वर्चुअल माध्यम से किया था।

Related Articles