पीएम मोदी नहीं लेंगे 23 दिन की सैलरी, एनडीए के सभी सांसद भी देंगे साथ

पीएम मोदीनई दिल्ली। संसद के बजट सत्र के दौरान कांग्रेस के रवैये से हुए नुकसान की भरपाई के लिए बीजेपी और एनडीए के सभी सांसदों ने एक अहम फैसला लिया है। दरअसल एनडीए ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि उनके रवैये की वजह से बजट सत्र के 23 दिन बर्बाद हो गए। इसलिए बीजेपी और एनडीए के सभी सांसदों ने फैसला लिया कि वे सभी बजट सत्र के 23 दिनों का वेतन और अन्‍य भत्‍ते नहीं लेंगे।

पीएम मोदी नहीं लेंगे सैलरी

इसको लेकर संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने बुधवार की शाम को कैबिनेट की बैठक के दौरान जानकारी दी। अनंत कुमार ने कहा कि विपक्ष द्वारा उठाए जा रहे सभी मुद्दों पर बहस के लिए तैयार थी, लेकिन कांग्रेस के अड़ियल रुख की वजह से नहीं हो सका। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी गैर लोकतांत्रिक तरीके से काम कर रही है और तमाम महत्वपूर्ण बिल पास होने से रोक रही है जो टैक्सपेयर्स के पैसे की बर्बादी है। संसद का यह सत्र शुक्रवार को खत्म हो रहा है।

Also Read : काला हिरण मामले में आज आएगा फैसला, जोधपुर पहुंचे सभी सितारे

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह जनता का पैसा है। सांसदों को जनता का काम करने के लिए चुना गया है। जब कोई काम नहीं हुआ तो हमने इसका रुपया नहीं लेने का फैसला किया। अनंत कुमार ने कहा कि नरेंद्र भाई मोदी को मिले जनादेश के बाद कांग्रेस असहिष्णु हो गई है। हम जनता की बात करते हैं। पांच मार्च को शुरू हुआ बजट सत्र का दूसरा और अंतिम भाग बिना चर्चा के ही समाप्त हो गया था। इसके लिए विपक्षी पार्टियों और सरकार ने एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप किए थे।

Also Read : BJP ने दिल्ली सरकार पर किया चुन-चुनकर हमला, कहा- लालू चारा खाते है और केजरीवाल गरीबों का राशन

जहां पहले पांच दिन कांग्रेस ने बैंक घोटाले को लेकर सदन की कार्यवाही बाधित की। इसके बाद वाईएसआर कांग्रेस और तेदेपा ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने के मुद्दे पर अविश्वास प्रस्ताव ले आए, इनके अलावा कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, माकपा ने भी कार्यवाही बाधित की।

Related Articles