कृषि विधेयक को लेकर पीएम मोदी ने विपक्ष पर बोला हमला, न्यूनतम समर्थन मूल्य में हो सकती है बढोत्तरी

New Delhi: मोदी सरकार किसान बिल को लेकर विरोध कर रहे विपक्षियों को झटका दे सकती है, केंद्र सरकार 2020- 21 के रबी की फसल के लिए न्यूनतम  समर्थन मूल्य(MSP) बढ़ाने की तैयारी कर रही है। आज दोपहर ही होने वाली बैठक में ही MSP बढ़ाने की कैबिनेट की मंजूरी मिल सकती है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरकार गेहूं, जौ, बाजरा, चना, समेत रबी की फसलों पर MSP बढ़ा सकती है। कृषि विधेयक को लेकर पीएम मोदी ने भी ने भी विपक्ष पर हमला बोला है।

PM Narendra Modi
PM Narendra Modi

 

बता दें कि रबी की फसल पर MSP बढ़ाने की सिफारिश CACP (Commission for Agricultural Costs and Prices) ने की है। जिसके आधार पर सरकार गेहूं का न्यूनतम ​समर्थन मूल्य 1925 रुपये से बढाकर करीब 2,000 रुपये प्रति क्विंटल कर सकती है। इसके अलावा जौ, चने और दालों के समर्थन मूल्यों को भी सरकार बढ़ाने की तैयारी कर रही है। जौ पर MSP 1,525 रुपये से बढ़ाकर 1,600 रुपये प्रति क्विंटल कर सकती है। चने पर MSP 4875 रुपये से बढाकर सरकार 5000 प्रति क्विंटल कर सकती है। सबसे ज्यादा दालों पर 7.3% की MSP में बढ़ोतरी जा सकती है।

वहीँ कृषि विधेयक को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर विपक्ष पर हमला बोला है, बिहार में इंफ्रास्ट्रक्चर विकास परियोजनाओं को लेकर घोसणा के दौरान उन्होंने कहा कि कल देश की संसद ने, देश के किसानों को नए अधिकार देने वाले ऐतिहासिक कानूनों को पारित किया है। उन्होंने कि मैं देश के लोगों को, किसानों,और देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए सबको बहुत-बहुत बधाई देता हूं.यह सुधार 21 वीं सदी के भारत की जरुरत है।

इसे भी पढ़े: कृषि सुधारों बिल पास होने पर PM मोदी ने दी बधाई, कहा- कृषि इतिहास में बड़ा दिन

पीएम ने कहा कि अब तक उपज विक्री की जो व्यवस्था चली आ रही थी, उससे हमारे किसानों के हाथ- पांव बांधे हुए थे,और इस कानून की आड़ में बहुत सारे गिरोह चल रहे थे जो किसानों की मज़बूरी का फायदा उठा रहे थे। गौरतलब है कि कृषि सुधार विधेयक को लेकर विपक्ष और कई राज्यों किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। कल राज्यसभा विधेयक को लेकर काफी हंगामा भी हुआ था, जिसके बाद सभापति ने संजय सिंह, राजीव साटव, डेरेक ओ ब्रायन, के के राघव, निपुन बोरा समेत आठ सांसदों को एक हफ्ते के लिए निंलबित कर दिया है।

Related Articles

Back to top button