विपक्ष के आगे झुके पीएम मोदी, सदन चलाने के लिए मांगा सहयोग

नई दिल्ली। आगामी बुधवार यानि कल से मानसून सत्र शुरु होने वाला है। जिसको लेकर विपक्षियों में उठा पटक शुरु हो गई है। कहा जा रहा यह सत्र 10 अगस्त तक चलने वाला है। हमेशा देखा जाता है कि संसद में हंगामा होना आम बात है, इसीलिए इस सत्र को सफल बनाने के लिए मौजूदा केंद्र सरकार ने विपक्ष से सहयोग मांगा है।

सूत्रों की माने तो बीजेपी के नेता इन दिनों विपक्षी नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस सत्र में शांति बनाए रखने के लिए बीजेपी विपक्षियों की शरण में जा रही है। साथ ही पीएम ने यह भी कहा कि सदन में गंभीर मुद्दों को भी उठाया जाएगा, जिससे देश के साथ साथ जनता को भी बराबर का फायदा होगा।

शांति बनाए रखने के लिए हाल ही में एक सर्वदलीय बैठक भी बुलाई, जिसमें पीएम मोदी भी शामिल हुए। साथ ही उन्होंने निवेदन किया कि इस बार के सत्र में शांति का विशेष रुप से ध्यान रखना होगा। पीएम ने कहा कि जनता की भी यही उम्मीद है कि यहां पर जो मुद्दे सर्वदलीय बैठक में उठाए गए हैं वह सदन के भीतर भी उठने चाहिए और उन पर चर्चा होनी चाहिए।

विपक्ष इस बार सदन में किसानों की आत्महत्या, भ्रष्टाचार, मॉब लिंचिंग और महंगाई जैसे मुद्दे उठाने की तैयारी में है। आरजेडी के नेता जयप्रकाश यादव का कहना है कि हम चाहते हैं सदन चले, लेकिन जो जरूरी मुद्दे हैं उनको विपक्ष सदन में उठाएगा। चाहे मॉब लिंचिंग का मुद्दा हो या भ्रष्टाचार का मुद्दा, सरकार से सवाल तो पूछे जाएंगे।

Related Articles