PM मोदी ने किया ‘Catch the Rain’ मूवमेंट को लॉन्च, केन-बेतवा लिंक दस्तावेजों पर हुए हस्ताक्षर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जलशक्ति अभियान 'कैच द रेन' (Catch the Rain) को लॉन्च किया है

नई दिल्ली: 22 मार्च को पूरे विश्व में विश्व जल दिवस (World Water Day) मनाया जाता है। ताकि हम जल के महत्व को समझे और उसे संरक्षित कर सकें। क्यों कि जल के बिना जीवन असंभव है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जलशक्ति अभियान ‘कैच द रेन’ (Catch the Rain) को लॉन्च किया है।

दस्तावेजों पर हस्ताक्षर

विश्व जल दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केन-बेतवा लिंक परियोजना से संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए।

‘केन-बेतबा लिंक’

पीएम मोदी ने बताया कि Catch The Rain की शुरुआत के साथ ही ‘केन-बेतबा लिंक’ नहर के लिए भी बहुत बड़ा कदम उठाया गया है। उन्होंने कहा कि अटल जी ने उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के लाखों परिवारों के हित में जो सपना देखा था, उसे साकार करने के लिए ये समझौता अहम है। आज जब हम जब तेज विकास के लिए प्रयास कर रहे हैं, तो ये Water Security के बिना, प्रभावी Water Management के बिना संभव ही नहीं है। भारत के विकास का विजन, भारत की आत्मनिर्भरता का विजन, हमारे जल स्रोतों पर निर्भर है, हमारी Water Connectivity पर निर्भर है।

हमारी सरकार ने water governance को अपनी नीतियों और निर्णयों में प्राथमिकता पर रखा है। बीते 6 साल में इस दिशा में अनेक कदम उठाए गए हैं। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना हो या हर खेत को पानी अभियान ‘Per Drop More Crop’ अभियान हो या नमामि गंगे मिशन, जल जीवन मिशन हो या अटल भूजल योजना, सभी पर तेजी से काम हो रहा है।

Groundwater पर निर्भरता

PM मोदी ने बोला कि भारत वर्षा जल का जितना बेहतर प्रबंधन करेगा उतना ही Groundwater पर देश की निर्भरता कम होगी। इसलिए ‘Catch the Rain’ जैसे अभियान चलाए जाने, और सफल होने बहुत जरूरी हैं। वर्षा जल से संरक्षण के साथ ही हमारे देश में नदी जल के प्रबंधन पर भी दशकों से चर्चा होती रही है। देश को पानी संकट से बचाने के लिए इस दिशा में अब तेजी से कार्य करना आवश्यक है। केन-बेतवा लिंक प्रोजेक्ट (Ken-Betwa Link Project) भी इसी विजन का हिस्सा है।

सिर्फ डेढ़ साल पहले हमारे देश में 19 करोड़ ग्रामीण परिवारों में से सिर्फ साढ़े 3 करोड़ परिवारों के घर नल से जल आता था। मुझे खुशी है कि जल जीवन मिशन शुरू होने के बाद इतने कम समय में ही लगभग 4 करोड़ नए परिवारों को नल का कनेक्शन मिल चुका है। आजादी के बाद पहली बार पानी की टेस्टिंग को लेकर किसी सरकार द्वारा इतनी गंभीरता से काम किया जा रहा है। और मुझे इस बात की भी खुशी है कि पानी की टेस्टिंग के इस अभियान में हमारे गांव में रहने वाली बहनों-बेटियों को जोड़ा जा रहा है।

इलाकों में झील का निर्माण

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विश्व जल दिवस पर बोले कि दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में हम झीलें विकसित कर रहे हैं, इसी कड़ी में द्वारका में 7 एकड़ में फैली यह नई झील महज 7 महीने में तैयार की। पानी की बचत, संचयन एवं बेहतर मैनेजमेंट आज के वक्त की जरूरत है, खुद भी जागरूक बनें और दूसरों को भी जागरूक करें।

यह भा पढ़े12वीं पास के लिए खुशखबरी, बिहार पुलिस में निकली बंपर वैकेंसी, इस तरह कर सकते हैं आवेदन

Related Articles