SCO शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए पीएम मोदी चीन हुए रवाना

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को शंघाई सहयोग संगठन (एससीएओ) शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए चीन के किंगदाओ के लिए रवाना हो गए। वह सम्मेलन से इतर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे। एससीओ का पूर्ण सदस्य बनने के बाद भारत पहली बार एससीओ शिखर सम्मेलन में भाग ले रहा है।

भारत जून 2017 में पाकिस्तान के साथ इस संगठन का पूर्ण सदस्य बना था। एससीओ एक यूरेशियाई अंतर सरकारी संगठन है, जिसके गठन का ऐलान 2001 में शंघाई में कजाकिस्तान, चीन, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान ने किया था।

मोदी के रवाना होने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा कि एससीओ राजनीतिक, आर्थिक, सुरक्षा और सांस्कृतिक सहयोग पर केंद्रित है और भारत को मध्य एशियाई देशों के साथ जुड़ने में सक्षम बनाता है। किंगदाओ में शनिवार अपराह्न पहुंचने के बाद मोदी के शी के साथ द्विपक्षीय बैठक करने की संभावना है।

भारत और पाकिस्‍तान पहली बार स्‍थायी सदस्‍य की हैसियत से इस सम्‍मेलन में शिरकत करेंगे। इसलिए यह बैठक दोनों देशों के लिए अहम मानी जा रही है। एससीओ की खास बात यह भी है कि यह पाकिस्‍तान के घनिष्‍ठ चीन की अगुवाई में हो रही है। ऐसे में इस सम्मेलन में भारत के समक्ष एक बड़ी चुनौती पाकिस्‍तान प्रायोजित आतंकवाद को एजेंडे में शामिल कराने की होगी। इसके साथ आतंकवाद पर काबू पाने के लिए चीनी रूख काफी अहम होगा।

Related Articles