संसद में मंत्रियों की गैरहाजिरी पर पीएम मोदी ने सख्त किये अपने तेवर

राजनीति से हटकर भी करना होगा काम

नई दिल्ली: दिल्ली में मंगलवार को भाजपा ने संसदीय दल की बैठक की. जिसमे भारतीय जनता पार्टी के मंत्री भी शामिल हुए. बैठक में शामिल मंत्रियों में गृहमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी, विदेश मंत्री एस. जयशंकर, केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन समेत कई नेता मौजूद रहे. बैठक में शामिल लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसदों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया.

बैठक में प्रधानमंत्री ने सांसदों को संबोधित करते हुए कहा, कि राजनीति से हटकर भी सांसदों के कार्य करना होगा. पीएम ने जल संकट को लेकर भी चर्चा की. देश में जल संकट गहराता जा रहा है. इस पर भी सांसदों को कार्य करने की जरुरत है. अपने क्षेत्र में अधिकारियो के साथ बैठकर वहां के आम मुद्दों पर भी बात करनी चाहिए. जिससे जनता की स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके, सांसदों और मंत्रियों को संसद में उपस्थित रहना होगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी संसदीय दल की बैठक में कहा कि जो मंत्री रोस्टर ड्यूटी में उपस्थित नहीं रहते हैं, उनके बारे में उसी दिन शाम तक मुझे बताया जाए. पीएम मोदी ने सांसदों को कहा कि सरकारी काम और योजनाओ में बढ़ चढ़ कर भाग लें, सामाजिक कार्यों में हिस्सा लें, जब संसद चल रही हो तो सदन में उपस्थित रहें.

प्रधानमंत्री ने कहा कि सांसदों को अपने क्षेत्र में जाकर सरकार की योजनाओं के बारे में जनता को बताना चाहिए. पहली जो छाप होती है वही आखिरी छाप होती है. प्रधानमंत्री ने कहा कि राजनीति से हटकर भी सांसदों को काम करना चाहिए. प्रधानमंत्री ने सुझाव दिया कि सांसद अपने संसदीय क्षेत्र के लिए कोई एक इनोवेटिव काम करें. जिला प्रशासन के साथ मिलकर काम करें. राजनिति के साथ साथ सामाजिक काम करें. जानवरों की बीमारियों पर भी काम करें. टीबी, कोढ़ जैसे बीमारियों पर पर मिशन मोड में काम करें.

Related Articles