PM मोदी बोले- ‘किसान की उपज को बाजार में ज्यादा से ज्यादा विकल्प मिलें’

बजट में कृषि क्षेत्र के लिए की गई घोषणाओं पर वेबिनार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले कि भारत को पोस्ट हार्वेस्ट क्रांति या फूड प्रोसेसिंग क्रांति और वैल्यू एडिशन की आवश्यकता है

नई दिल्ली: बजट (Budget) में कृषि क्षेत्र के लिए की गई घोषणाओं पर वेबिनार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) बोले कि लगातार बढ़ते कृषि उत्पादन के बीच, 21वीं सदी में भारत को पोस्ट हार्वेस्ट क्रांति या फूड प्रोसेसिंग क्रांति और वैल्यू एडिशन की आवश्यकता है। देश के लिए बहुत अच्छा होता अगर ये काम दो-तीन दशक पहले ही कर लिया गया होता।

प्रोसेस्ड फूड के वैश्विक मार्केट

PM मोदी ने वेबिनार में कहा कि आज ये समय की मांग है कि देश के किसान की उपज को बाजार में ज्यादा से ज्यादा विकल्प मिलें। सिर्फ उपज तक किसानों को सीमित रखने का नुकसान देश देख रहा है। हमें देश के कृषि क्षेत्र का प्रोसेस्ड फूड के वैश्विक मार्केट में विस्तार करना ही होगा।

हमारे यहां कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग लंबे समय से किसी न किसी रूप में की जा रही है। हमारी कोशिश होनी चाहिए कि कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग सिर्फ एक व्यापार बनकर न रहे बल्कि उस जमीन के प्रति हम ​अपनी जिम्मेदारी को भी निभाएं।

यह भी पढ़ेCo-Win 2.0 Portal पर कोरोना वैक्सीन के लिए आज से शुरू जो गया आवेदन, इन Steps को करें फॉलो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजधानी दिल्ली के एम्स (AIIMS) अस्पताल में लगवाई कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) की पहली डोज। 28 दिन बाद वैक्सीन की दूसरी डोज लगाई जाएगी। देश में कुल 1,43,01,266 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई गई है। सिस्टर पी.निवेदा ने लगाई वैक्सीन। उन्होंने बोला कि वैक्सीन लगा भी दी, पता भी नहीं चला।

पीएम ने यह भी कहा कि कैसे हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने COVID-19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूत करने के लिए त्वरित समय में काम किया है। जो लोग वैक्सीन लेने योग्य हैं मैं उन सभी से वैक्सीन लगवाने की अपील करता हूं। साथ में मिलकर हम सब भारत को COVID-19 मुक्त बनाते हैं।

यह भी पढ़ेUP में जहरीली शराब का कहर: मौत के बाद ही क्यों अलर्ट हो रहा प्रशासन?

Related Articles