54 जिलों के DMs से PM मोदी ने की सीधी बात, बोले,’ केस कम पर चुनौती बरकरार’

नई दिल्ली: देश में कोरोना संक्रमण की रफ़्तार अब कमजोर हुई है. लगातार देश का प्रशानिक ढांचा कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए राष्ट्रीय से लेकर ग्रामीण स्तर तक दिन रात जुटा है. लेकिन फिर भी कई राज्यों के कुछ जिलों की स्तिथि अभी भी कोरोना संक्रमण को लेकर बेकाबू है. देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी लगातार इसपर नज़र बनाये हुए हैं. PM लगातार राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बात करके स्थिति का जायजा ले रहे थे. अब PM मोदी जमीनी हकीकत को जानने के लिए सीधे जिला प्रशासन से संपर्क कर रहे हैं. उन्होंने आज भी देश भर के 54 जिलों के साथ संवाद स्थापित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने आज कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 राज्यों के 54 जिलों के DMs के साथ वर्चुअल बैठक की.

10 राज्यों के जिलाधिकारी मौजूद रहे

प्रधानमंत्री से वर्चुअली हुई इस बैठक में जिलाधिकारियों के साथ कोरोना प्रभावित जिलों में संक्रमण के ताजा हालात और उन पर कंट्रोल पर चर्चा हुई है. PM मोदी ने 10 राज्यों Chhattisgarh, Haryana, Kerala, Maharashtra, Odisha, Puducherry, Rajasthan, Uttar Pradesh, West Bengal, Andhra Pradesh के कुछ जिलों के डीएम और फील्ड अधिकारियों के साथ बातचीत की. इस बैठक में इन जिलों में कोरोना संक्रमण के ताजा हालात और उन पर नियंत्रण पर चर्चा हुई है. बैठक में PM मोदी ने कहा कि Covid वायरस ने आपके काम को और अधिक जादा और चुनौतीपूर्ण बना दिया है.

PM मोदी ने Corona के म्युटेशन पर जताई चिंता

Online बैठक में PM नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कोरोना की दूसरी वेव के बीच वायरस म्यूटेशन की वजह से अब नवयुवाओं और छोटे बच्चों के लिए ज्यादा चिंता जताई जा रही है. आपने जिस तरह से फील्ड पर काम किया है इसने इस चिंता को गंभीर होने से रोकने मदद तो की है, लेकिन हमें आगे के लिए तैयार रहना ही होगा. उन्होंने कहा कि जीवन बचाने के साथ-साथ हमारी प्राथमिकता जीवन को आसान बनाए रखने की भी है. गरीबों के लिए मुफ्त राशन की सुविधा हो, दूसरी आवश्यक सप्लाई हो, कालाबाजारी पर रोक हो, ये सब इस लड़ाई को जीतने के लिए भी जरूरी हैं, और आगे बढ़ने के लिए भी आवश्यक है.

प्रभावी नीतियों को लागू करें : PM मोदी

बैठक में PM मोदी ने कहा कि ‘आप अपने जीवन से ठीक से काम करें और नियमित रूप से लागू करें और प्रभावी नीतियों को लागू करने में मदद करें. PM मोदी ने कहा कि पिछली महामारियां हों या फिर ये समय, हर महामारी ने हमें एक बात सिखाई है. महामारी से डील करने के हमारे तौर-तरीकों में निरंतर बदलाव, निरंतर इनोवेशन बहुत जरूरी है. ये वायरस म्यूटेशन में, स्वरूप बदलने में माहिर है, तो हमारे तरीके और रणनीतियां भी गतिशील होने चाहिए.’

ये भी पढ़ें : 9 लोगों के लिए आपदा बनी अवसर, Vaccine से बने अरबपति, कमाए अरबों रुपए

 

Related Articles

Back to top button