नए साल के पहले दिन PM Modi करेंगे इंदौर के लाइट हाउस प्रोजेक्ट का शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) नव वर्ष ( New year ) के प्रथम दिवस पर वर्चुअल माध्यम से इंदौर ( Indore ) में निर्मित होने वाले महत्वाकांक्षी लाइट हाउस प्रोजेक्ट ( Light House Project ) (एलएचपी) का शिलान्यास प्रात: 11 बजे करेंगे।

भोपाल: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) नव वर्ष ( New year ) के प्रथम दिवस पर वर्चुअल माध्यम से इंदौर ( Indore ) में निर्मित होने वाले महत्वाकांक्षी लाइट हाउस प्रोजेक्ट ( Light House Project ) (एलएचपी) का शिलान्यास प्रात: 11 बजे करेंगे। इस कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित मध्यप्रदेश ( Madhya Pradesh ) शासन के मंत्री एवं अन्य जनप्रतिनिधि भी वर्चुअल माध्यम से शामिल होंगे।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार, प्रधानमंत्री आवास योजना ( Prime Minister Housing Scheme ) (शहरी) के ग्लोबल हाउसिंग टेक्नोलॉजी चैलेंज इंडिया ( Global Housing Technology Challenge India ) के अंतर्गत प्रतिस्पर्धा के माध्यम से इंदौर का चुनाव राष्ट्रीय स्तर पर लाइट हाउस प्रोजेक्ट (एलएचपी) के निर्माण के लिए भारत सरकार ( Indian government ) , आवासन एवं शहरी विकास मंत्रालय द्वारा किया गया है। लाइट हाउस प्रोजेक्ट के क्रियान्वयन के लिए देश के स्वच्छतम शहर इन्दौर का चुनाव होना, मध्यप्रदेश के लिए गौरव की बात है।

ये भी पढ़ें : नोएडा पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, ठक-ठक गैंग के तीन बदमाश गिरफ्तार (Arrested)

पहली बार इस तरह के सैंडविच पैनल प्रणाली के साथ हो रहा भवन निर्माण

इंदौर में एलएचपी के क्रियान्वयन से भवन निर्माण की नवीन तकनीकों को प्रदेश में प्रोत्साहन मिलेगा और नवीन तकनीकों के उपयोग से निर्माण अवधि भी कम होगी। इंदौर में निर्मित होने वाले इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट में पूर्वनिर्मित सैंडविच पैनल प्रणाली के माध्यम से 1,024 आवासीय इकाइयों का निर्माण किया जाना है। इस प्रीफेब्रिकेटेड पूर्वनिर्मित सैंडविच पैनल प्रणाली में दीवार पैनल, सीमेंट फाइबर बोर्डों के बीच हल्के वजन वाले कंक्रीट के कोर के साथ बना हुआ अभिनव निर्माण पद्धति हैं।

मध्यप्रदेश में इस तरह के सैंडविच पैनल प्रणाली के साथ पहली बार इतने बड़े पैमाने पर किसी भवन निर्माण परियोजना में उपयोग किया जा रहा है। लाइट हाउस प्रोजेक्ट की क्रियान्वयन अवधि में विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं जैसे आईआईटी, आईआईएम, एनआईटी, अन्य इंजीनियरिंग कॉलेज व राज्य की निर्माण एजेंसियों द्वारा इसका उपयोग लाइव प्रयोगशाला के रूप में किया जा सकेगा।

ये भी पढ़ें : कृषि बिल पर पुनर्विचार करे केंद्र सरकार: शिवपाल यादव ( Shivpal Singh Yadav )

तकनीकी नवाचार का लाभ देश के अन्य शहरों को मिलेगा

निर्माण अवधि पूर्ण होने के पश्चात भी वर्कशॉप एवं साइट विजिट के माध्यम से विद्यार्थियों व शोधकर्ताओं द्वारा उपयोग की जा रही प्रीफेब्रिकेटेड पूर्वनिर्मित सैंडविच पैनल प्रणाली की जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। साथ ही लाइट हाउस प्रोजेक्ट के तकनीकी नवाचार का लाभ देश के अन्य शहरों को मिल सकेगा। इंदौर स्वच्छता के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित कर चुका है और लाइट हाउस प्रोजेक्ट के माध्यम से इंदौर नवीन निर्माण तकनीकी के प्रोत्साहन में भी देश को वैश्विक स्तर पर एक लीडर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका प्रदान करेगा।

Related Articles

Back to top button