असमंजस: मोदी को कैबिनेट में बदलाव को नहीं मिल रहे योग्य मंत्री

Narendra modi_0_0_0_0_0_0_0_1_0_0_0_0_0_0_0_0_0_0_0_0_0_0_0

नई दिल्ली। पिछले महीने नवंबर में बिहार विधानसभा के परिणाम ने पीएम मोदी का अच्छाी खासा परेशान किया है। इच्छा अनुसार परिणाम न आने पर पीएम मोदी अपनी कैबिनेट में बदलाव करने के इच्छुक हैं लेकिन उन्हें उस पद के योग्य मंत्री नहीं मिल रहे हैं।

अगले वर्ष होगा फेरबदल
बिहार चुनाव के बाद यह हवा उड़ी थी कि कुछ मंत्रालयों में बदलाव होगा, लेकिन इसके लिए प्रधानमंत्री को उपयुक्त लोग ढ़ूढे़ नहीं मिल पाए। हालांकि भाजपा के कुछ सीनियर नेताओं का कहना है कि अगले वर्ष कैबिनेट में कुछ फेरबदल हो सकता है।

मोदी चा‍हते हैं जेटली बनें रक्षा मंत्री
पीएम मोदी चाहते थे कि वित्त मंत्री अरुण जेटली को रक्षा मंत्री बनाया जाए लेकिन लेकिन जेटली की जगह लेने के लिए कोई उपयुक्त व्यक्ति नहीं मिलने के कारण ऐसा संभव नहीं हो पाया। हालांकि जेटली के कार्यालय का कहना है कि उनके पास इस प्रकार के बदलाव की कोई सूचना नहीं है।

कुछ मंत्रियों पर गिर सकती है गाज
मिली जानकारी के अनुसार अगले साल जनवरी के दूसरे हफ्ते में भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेताओं की मुलाकात होने की संभावना है। इस बैठक में जहां कैबिनेट में बदलाव को लेकर चर्चा हो सकती है। बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले दो राज्य मंत्री, गिरिराज सिहं और साध्वी निरंजन ज्योति को कैबिनेट से हटाया जा सकता है।

कुछ मंत्रियों के विभागों में हो सकता है फेरबदल
कुछ मंत्रियों के विभागों में भी फेरबदल किया जा सकता है, जिनमें सुषमा स्वराज का नाम भी शामिल है। सूत्रों की खबरों को अगर पुख्ता माने तो नितिन गडकरी को कृषि मंत्रालय के रूप में अतिरिक्त मंत्रालय देने की पेशकश की गई थी, लेकिन उन्होंने यह कहकर इससे मना कर दिया कि उनके पास पहले से काफी कार्य है। सूत्रों का कहना है कि मोदी आरएसएस से बातचीत कर कैबिनेट बदलाव पर निर्णय ले सकते हैं और दक्षिण तथा पूर्वोत्तर राज्यों से भी कुछ नए चेहरों को कैबिनेट में मौका मिल सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button