PM मोदी कल लांच करेंगे टैक्स से जुडी एक नई योजना, मिलेगा सकता है फायदा

नई दिल्ली|कोरोना वायरस की वजह से इस लॉकडाउन में भारतीय अर्थव्यवस्था को बहुत तगड़ा झटका लगा है. अब इकॉनमी को पटरी पर लाने के लिए सरकार कई कोशिशें कर रही है. इस बीच करदाता सरकार पर भरोसा करें और सही वक्त पर टैक्स जमा करें, इसके लिए मोदी सरकार बड़ा कदम उठाने जा रही है. जिसके तहत कल गुरुवार को ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन- ईमानदारों के लिए सम्मान योजना शुरू होगी. इस योजना का शुभारंभ पीएम मोदी खुद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे.सीबीडीटी ने हाल के वर्षों में प्रत्यक्ष टैक्सों में कई प्रमुख या बड़े टैक्स सुधार लागू किए हैं. पिछले वर्ष कॉरपोरेट टैक्स की दर को 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया गया एवं नई विनिर्माण इकाइयों के लिए इस दर को और भी अधिक घटाकर 15 प्रतिशत कर दिया गया. ‘लाभांश वितरण टैक्स’ को भी हटा दिया गया.

टैक्स सुधारों के तहत CBDT कई पहल शुरू की 
टैक्स सुधारों के तहत दरों में कमी और प्रत्यक्ष टैक्स कानूनों के सरलीकरण पर फोकस रहा है. आयकर विभाग के कामकाज में दक्षता और पारदर्शिता लाने के लिए सीबीडीटी द्वारा कई पहल की गई हैं. हाल ही में शुरू की गई ‘दस्तावेज पहचान संख्या (DIN) ’ के जरिए आधिकारिक संचार में अधिक पारदर्शिता लाना भी इन पहलों में शामिल है जिसके तहत विभाग के हर संचार या पत्र-व्यवहार पर कंप्यूटर सृजित एक अनूठी दस्तावेज पहचान संख्या अंकित होती है.

इसी तरह करदाताओं  के लिए अनुपालन को ज्‍यादा आसान करने के लिए आयकर विभाग अब ‘पहले से ही भरे हुए रिटर्न फॉर्म’ प्रस्‍तुत करने लगा है, ताकि व्यक्तिगत करदाताओं के लिए अनुपालन को और भी अधिक सुविधाजनक बनाया जा सके. इसी तरह स्टार्ट-अप्‍स के लिए भी अनुपालन मानदंडों को सरल बना दिया गया है.

ICICI बैंक ने शुरू की नई सर्विस, लाखों ग्राहकों को मिलेगा इस सुविधा का लाभ

डिजिटल लेन-देन और भुगतान के इलेक्ट्रॉनिक मोड या तरीकों को बढ़ावा देने के लिए भी कई उपाय किए गए हैं. आयकर विभाग इन पहलों को आगे ले जाने के लिए प्रतिबद्ध है. यही नहीं, विभाग ने ‘कोविड काल’ में करदाताओं के लिए अनुपालन को आसान बनाने के लिए भी अनेक तरह के प्रयास किए हैं जिनके तहत रिटर्न दाखिल करने के लिए वैधानिक समयसीमा बढ़ा दी गई है और टैक्सदाताओं के हाथों में तरलता या नकदी प्रवाह बढ़ाने के लिए तेजी से रिफंड जारी किए गए हैं.

आयकर विभाग के अधिकारियों एवं पदाधिकारियों के अलावा विभिन्न वाणिज्य मंडलों, व्यापार संघों एवं चार्टर्ड एकाउंटेंट संघों के साथ-साथ जाने-माने करदाता भी इस आयोजन के साक्षी होंगे. केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर भी इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे.

Related Articles