पीएम मोदी ने चली बड़ी चाल, अब भारत के सामने झुकेगा पाकिस्तान

नई दिल्ली। पिछली बार की तरह इस बार भी पाकिस्तान में होने वाले दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (SAARC) में भारत हिस्सा नहीं लेगा। पीएम मोदी ने साफ तौर पर इस बात को स्पष्ट कर दिया है। पीएम मोदी ने पाकिस्तान द्वारा लगातार सीमा पार हो रहे आतंकवादी गतिविधियों को देखते हुए ये फैसला लिया है।

SAARC

 

दरअसल, तीन दिन के भारत दौरे पर आए नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने सार्क समिट का मसला उठाया, जिसके बाद भारत ने अपना रुख साफ किया है। वैसे ये कोई पहली बार नहीं है इससे पहले भी 2016 में जब पाकिस्तान में ये सम्मेलन होना था उस वक्त भी उड़ी हमले के कारण भारत ने उस सम्मेलन में हिस्सा लेने से मना कर दिया था।

बता दें, सार्क के सदस्य देश हर दो साल में वर्णमाला के क्रम में यह सम्मेलन आयोजित करते हैं। इसका आयोजन करने वाला देश ही सार्क की अध्यक्षता करता है। 2014 में हुए सार्क सम्मेलन में पीएम मोदी शामिल हुए थे। लेकिन 2016 में 18 सितंबर को उड़ी में सैन्य शिविर पर आतंकी हमले के बाद भारत ने इस्लामाबाद में आयोजित सम्मेलन में जाने से इनकार कर दिया। बाद में बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान ने भी कदम पीछे खींच लिए थे। इसके बाद सार्क सम्मेलन को रद्द करना पड़ा। इससे पाक की काफी किरकिरी हुई थी। लेकिन फिर भी पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आया। मालदीव और श्रीलंका सार्क के क्रमश: सातवें और आठवें सदस्य हैं।

वैसे इस बार तो पाकिस्तान अपना पूरा झोर लगा देगा। पाकिस्तान के इस्लामाबाद में तो जोर-शोर से तैयारियां शुरु भी हो चुकी हैं। अब देखना होगा पाकिस्तान की ये मेहनत रंग लाती है या पिछली बार की तरह इस बार भी किरकिरी हो जाती है।

Related Articles