कृषि सुधार विधेयक पर पीएम मोदी की सफाई, MSP जारी रहेगी, झूठ बोल रहा विपक्ष

New Delhi: केंद्र सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र से जुड़े तीन बिल को लेकर किए जा रहे बदलाव को लेकर किसान और विपक्ष भी लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे है। इसके अलावा केंद्र सरकार की कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने भी इस बिल के विरोध में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। इतने व्यापक स्तर पर हो रहे इस बिल के विरोध के बाद भी केंद्र सरकार अपने फैसले से पीछे हटती नहीं दिख रही है। इसी सिलसिले में पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को बिहार के लिए परियोजनाएं की उदघोषणा करने के दौरान कहा कि इस अध्यादेश से किसानों को बहुत फायदा होगा, विपक्षी दल किसानों को गुमराह कर रहे है।

Mandsaur Kisan Andolan Repeat In Sikar - मंदसौर की राह पर सीकर किसान आंदोलन,  आज फिर से चक्का जाम, जानिए सरकार से वार्ता क्यों रही विफल? | Patrika News

उन्होंने कहा कि कल विश्वकर्मा जयंती के ऐतिहासिक अवसर पर लोकसभा में कृषि सुधार विधेयक पारित किये गए है, जो किसान भाइयों की अनेक समस्यायों से छुटकारा दिलाएंगे। इस विधेयक से किसान अपनी फसलों को अच्छे दामों में बेच सकते है। पीएम ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कहा कि वीआपसख के द्वारा झूठ फैलाया जा रह है कि सरकार किसानों को MSP नहीं देगी। उन्होंने कहा कि ये झूठ है कि किसानों से सरकार धान गेहू की खरीद नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि सरकारी खरीद पहले की तरह जारी रहेंगे।

विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि किसानों और ग्राहकों के बीच जो बिचौलिए होते है, जो किसानों के लाभ का एक बड़ा हिस्सा खुद खा जाते है, यह विधेयक उनके लिए है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग कई दशकों से सत्ता पर काबिज थे, वह लोग किसानों को इसे लेकर गुमराह कर रहे है। पीएम ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति अपना उत्पाद दुनिया में कही भी बेच सकता है, लेकिन इस अधिकार से किसान वंचित रह गए थे। अब किसान अपनी फसल को देश के किसी भी बाजार में मनचाही कीमतों पर बेच सकते है।

Related Articles

Back to top button