UT बनने के बाद जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ PM मोदी की पहली बैठक, ये नेता रहेंगे मौजूद

जम्मू-कश्मीर/नई दिल्ली: केंद्र शासित प्रदेश UT बनने के बाद देश के प्रधानमंत्री और राज्य के नेताओं के साथ पहली बैठक का न्योता जम्मू-कश्मीर के नेताओं को भेज दिया गया है. ये बैठक राजधानी दिल्ली में 24 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होनी है. इसमें जम्मू-कश्मीर के 14 नेताओं को आमंत्रित किया गया है जिसमें तत्कालीन राज्य के चार पूर्व मुख्यमंत्री भी शामिल हैं. यह जानकारी अधिकारियों ने शनिव़ार को दी. अधिकारियों ने कहा कि केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला केंद्र शासित प्रदेश ( UT ) के लिए भविष्य के कदम पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री आवास पर बैठक में आमंत्रित करने के लिए इन नेताओं से सम्पर्क किया.

बैठक में शामिल होने के लिए ये नेता आमंत्रित

बता दें की जिन्हें बैठक में न्योता मिला है उसमे तत्कालीन राज्य के चार पूर्व मुख्यमंत्री शामिल हैं. जिसमे नेशनल कांफ्रेंस के फारुक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और PDP प्रमुख महबूबा मुफ्ती शामिल हैं. यही नहीं इस बैठक में तत्कालीन राज्य के चार पूर्व उप मुख्यमंत्रियों को भी आमंत्रित किया गया है. जिसमे कांग्रेस नेता तारा चंद, पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के नेता मुजफ्फर हुसैन बेग और भाजपा नेताओं में निर्मल सिंह और कवींद्र गुप्ता भी बैठक में आमंत्रित किये गए हैं.

24 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होनी वाली इस बैठक में इसके अलावा माकपा नेता मोहम्मद यूसुफ तारिगामी, जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी (जेकेएपी) प्रमुख अल्ताफ बुखारी, पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के सज्जाद लोन, जम्मू कश्मीर कांग्रेस प्रमुख जी ए मीर, भाजपा के रवींद्र रैना और पैंथर्स पार्टी के नेता भीम सिंह को भी आमंत्रित किया गया है.

केंद्र शासित होने के बाद पहली बार राज्य के नेताओं के साथ बैठक

बता दें की ये बैठक अगस्त 2019 में जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को निरस्त करने की घोषणा और इसे दो प्रदेशों में बांटकर केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद राज्य के नेताओं के साथ बातचीत करने का केंद्र सरकार का पहला कदम है. इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और अन्य केंद्रीय नेताओं के भी भाग लेने की संभावना है.

राजनितिक दलों ने की पुष्टि

एक न्यूज़ चैनल के संपर्क करने पर उमर अब्दुल्ला ने कहा कि उन्हें निमंत्रण मिला है और वह पार्टी प्रमुख के निर्देश पर चलेंगे. नेशनल कांफ्रेंस के सूत्रों ने कहा कि अगले कुछ दिनों में फारुक अब्दुल्ला पार्टी नेताओं के साथ विचार-विमर्श करेंगे. पीडीपी की राजनीतिक मामलों की समिति की भी रविवार को बैठक होगी जिसमें बैठक पर फैसला लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें : CORONA को लेकर बड़ी चेतावनी, देश में 6 से 8 हफ्ते में आ सकती है तीसरी लहर!

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles