दुर्गाअष्टमी पर गुजरात को पीएम मोदी का गिफ्ट, सूर्योदय योजना की हुई शुरुआत

नई दिल्ली: गुजरात में वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलग–अलग तीन परियोजनाओं का उद्घाटन किया। गुजरात के किसानों के लिए पीएम मोदी ने सूर्योदय योजना की शुरुआत की। इसके आलावा प्रधानमंत्री जूनागढ़ जिले के गिरनार रोपवे और अहमदाबाद में यूएन मेहता ह्दयरोग संस्थान , शोध केंद्र , बच्चों के ह्दय रोग से संबंधित अस्पताल का उद्घाटन किया , पीएम मोदी ने अहमदाबाद के सदर अस्पताल में टेली-कॉडियोलॉजी के लिए मोबाइल एप्लीकेशन सुविधा का भी उद्घाटन किया।

सूर्योदय योजना का अर्थ है, ‘गरीब कल्याण’ जिसका मुख्य लक्ष्य ग्रामीण पुनर्निमाण और सहकारी माध्यमों से ग्रामीण भारत के लोगो को उपर उठाना । सर्वोदय गाँधी के कल्पनाओं का समाज था। जिसके केंद्र में भारतीय ग्राम व्यवस्था थी।

प्रधानमंत्री के संबोधन की बड़ी बातें-

पीएम मोदी ने कहा की कोरोना महामारी शुरु होने से पहले 45 लाख से अधिक लोगों ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का दीदार किया था , अब यह फिर से खुल गया है , पर्यटको कि संख्या भी पहले से ज्यादा तेजी से बढ़ रही है।

शिवराजपुर बीज को अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिल चुकी है। इस बीच को ब्लू फ्लैग सर्टीफिकेशन मिला है। ‘ब्लू फ्लैग सर्टीफिकेशन’ एक वैश्विक सम्मान है , जो साफ और सुरक्षित समुद्र तटों को दिया जाता है। ऐसे जगहों को विकसित करने पर पर्यटक अपने आप खींचे चले आएंगे और अपने साथ रोजगार के नए अवसर भी लाएंगे।

पीएम मोदी ने यह भी कहा की गिरनार रोपवे अगर कानूनी उलझनों में नही फंसा होता, तो लोगों को इसका लाभ पहले ही मिल जाता। हमें सोचना होगा की जब लोगों को इतनी बड़ी सुविधा पहुंचाने वाली व्यवस्था का निर्माण इतने लंबे समय तक अटका रहेगा तो लोगों को कितना नुकसान होता है।

इस नई सुविधा के बाद यहां ज्यादा से ज्यादा श्रध्दालु ज्यादा पर्यटक आएंगे, आज जिस रोपवे की शुरूआत हुई है, वह गुजरात का चौथा रोपवे है। बनालकांठा में अंबा जी के दर्शन के लिए पावागढ़ और सतपुड़ा में तीन और रोपवे पर पहले से ही काम चल रहे है।

गिरनार पर्वत पर अंबे जी विराजती है, जहां पर गोरखनाथ का शिखर, गुरू दत्तात्रेय का शिखर, और जैन मंदिर भी विराजमान है। यहां सीढ़ीयां चढ़ कर जो भक्त जाता है। वो अद्भूत शक्ति और शांति का अनुभव करता है। अब यहां विश्व स्तरीय रोपवे बनने से सबको सुविधा मिलेगी और दर्शन का अवसर मिलेगा।

ये भी पढ़ें: मीडिया से रूबरु होते ही महबूबा मुफ्ती ने फिर छेड़ा धारा-370 का राग

Related Articles

Back to top button