पीएम मोदी का वादा कहा अगर दोबारा कुर्सी मिली, तो देश की तरक्की के लिए सबसे पहले करेंगे ये काम

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के मद्देनजर देश में प्रचार अभियान चरम पर है. तमाम दल और नेता पूरे दमखम के साथ मतदाताओं को अपने पाले में लाने के लिए जुटे हुए है. इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को ओडीसा और छत्तीसगढ़ में चार रैलियों को संबोधित करने वाले है. इस बीच पीएम मोदी ने दोबारा सत्ता में लौटने पर अपनी प्राथमिकताएं बताई है.

प्रधानमंत्री मोदी ने एक न्यूज़पेपर को दिए इंटरव्यू में कहा कि विकास के मामले में उनकी सरकार का रिकॉर्ड शानदार रहा है. हमने अपने इन कार्यक्रमों को तय लक्ष्यों के साथ आगे भी जारी रखने का फैसला किया है. हम अपने देश को दुर्बल पांच की श्रेणी से निकालकर सबसे तेज विकसित हो रही अर्थव्यवस्था बनाने में सफल रहे हैं. हमारा अगला लक्ष्य 2025 तक इसे फाइव ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था में तब्दील करना है.

भ्रष्टाचार पर होगा वार-

पीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले पांच साल में हम लुटेरों को जेल के दरवाजे तक लाने में कामयाब रहे. हम सुनिश्चित करेंगे कि भ्रष्टाचार में शामिल लोग जेल जाएं. भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को और मजबूत करेंगे.

मैन्युफैक्चरिंग हब बनेगा इंडिया-

अपनी सरकार की उपलब्धियों को बताते हुए पीएम ने कहा कि 2014 में देश में मोबाइल और इसके पार्ट्स बनाने की सिर्फ चार यूनिट थीं, अब यह 268 हो चुकी हैं. हम भारत को मैन्युफैक्चरिंग हब बनाने को प्रतिबद्ध हैं. हाईवे बनाकर, सभी गांवों में बिजली पहुंचाकर, गैस कनेक्शन देकर हमने आम लोगों की जिंदगी आसान बनाई है. अब हम अगली पीढ़ी के लिए गैस ग्रिड, वाटर ग्रिड और इन्फॉर्मेशन हाइवे जैसी आधुनिक सुविधाओं का निर्माण करेंगे.

बिना बैंक गारंटी के लोन-

उन्होंने आगे कहा कि स्टार्ट अप इंडिया के जरिये युवाओं को जॉब सीकर से जॉब क्रिएटर बनाने की प्रक्रिया शुरू की थी. इसे अगले स्तर पर ले जाते हुए 2024 तक 50 हजार नए स्टार्ट अप को 50 लाख तक का लोन बिना बैंक गारंटी के देने की नई योजना शुरू करेंगे.

किसानों के हित के लिए किए गए काम को बताते हुए उन्होंने कहा की योजना पीएम किसान योजना शुरू की. आगे इसके दायरे में हर किसान को लाया जाएगा. असंगठित क्षेत्र के कामगारों को सामाजिक सुरक्षा दी है. भविष्य में छोटे दुकानदार व छोटे किसानों के लिए भी पेंशन योजना की शुरुआत करेंगे.

100 लाख करोड़ रुपये का होगा निवेश-

मोदी सरकार के अगले कार्यकाल की प्राथमिकताओं को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा की अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में 8-10 फीसदी जीडीपी दर बनाए रखने की कोशिश होगी. कृषि-ग्रामीण क्षेत्र के लिए 25 लाख करोड़ और विश्वस्तरीय इन्फ्रास्ट्रक्चर विकसित करने के लिए 100 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेंगे. शिक्षा-सेहत में हमारा लक्ष्य विश्वस्तरीय गुणवत्ता हासिल करना होगा. पाठ्यक्रम अपडेट किया जाएगा. शिक्षकों के खाली पद भरे जाएंगे, शोध पर जोर होगा और शिक्षा को इंडस्ट्री के साथ जोड़ने की कोशिश होगी. वर्कफोर्स को शिक्षित व स्किल्ड बनाए बिना 8-10 फीसदी विकास दर टिकाऊ नहीं हो सकती.

गरीबों को मिलेगा पक्का मकान-

उन्होंने आगे कहा कि गरीब और किसानों के सशक्तीकरण की दिशा में सबके लिए पक्का घर, किसानों की आय दोगुना करने की योजनाएं 2022 तक पूरी करने का लक्ष्य है. किसान हित में सुधार आगे भी हमारी शीर्ष प्राथमिकता में शामिल होगा.

Related Articles