पीएम मोदी का रो-रोकर बुरा हाल – जिसकी हमेशा रक्षा करने की खाई थी कसम, वो छोड़कर चली गई साथ

0

धनबाद। एक बुरी खबर सामने आ रही है। पीएम नरेंद्र मोदी को राखी बांधनेवाली उनकी मुंहबोली बहन सरबती देवी मजरिया का निधन शनिवार को बैंक मोड़ स्थित उनके निवास स्थान पर हो गया। उनकी उम्र 103 वर्ष की थी, वह धनबाद में रहती थीं। उन्होंने बैंकमोड़ में वीआइपी होटल परिसर स्थित अपने आवास पर अंतिम सांस लीं। पिछले साल रक्षा बंधन के दिन सरबती देवी ने पीएम को राखी बांधी और वर्ष 2019 का चुनाव जीतने का आशीर्वाद भी दिया था।

यह भी पढ़ें : हार्दिक पटेल बोले, मैंने गलती की जो गुजरात चुनाव के दौरान राहुल गांधी से नहीं मिला

सरबती देवी मजरिया का निधन

मोदी को नई दिल्ली स्थित उनके आवास में राखी बांधी थी

सरबती देवी ने 7 अगस्त 2017 को रक्षाबंधन के दिन मोदी को नई दिल्ली स्थित उनके आवास में राखी बांधी थी। पीएम उनसे राखी बंधवाकर बहुत खुश हुए थे। उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी भी दी थी। सरबती देवी ने अपने बेटे महेंद्र अग्रवाल मजरिया से रक्षाबंधन पर अपने मुंहबोले भाई और देश के प्रधानमंत्री को राखी बांधने की इच्छा जताई थी।

यह भी पढ़ें : जेल से ही लालू ने कर दिया बड़ा खेल – बीजेपी के उड़े होश, बिहार की राजनीति में चली तेजस्वी लहर

सरबती देवी 50 साल पहले अपने एक भाई को खो दिया था

दरअसल, झारखंड के धनबाद की सरबती देवी ने 50 साल पहले अपने एक भाई को खो दिया था। भाई की याद उन्हें हमेशा आते रहती थी। हर बार रक्षाबंधन के मौके पर शरबती देवी को अपने भाई की कमी खलती थी। शरबती देवी के बेटे ने पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस बात की जानकारी दी तो प्रधानमंत्री कार्यालय की पहल पर शरबती देवी को दिल्ली बुलाया गया था और प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्विटर पर शरबती देवी की एक तस्वीर भी शेयर की थी।

यह भी पढ़ें : मोदी के लिए आई साल की सबसे बुरी खबर – बीजेपी के उड़े होश, खुशी से झूम उठे राहुल

सरबती देवी की कुल 9 संतानें हैं

सरबती देवी की धनबाद के रहने वाले धनराज अग्रवाल से शादी हुई थी। उनके पति का पहले ही निधन हो चुका है। सरबती देवी की कुल 9 संतानें थी जिनमें से 2 संतानों का निधन हो चुका है। मिली जानकारी के मुताबिक सरबती देवी का धनबाद के बस्ताकोला स्थित गोशाला में रविवार को अंतिम संस्कार किया जाएगा।

loading...
शेयर करें