मोदी के एक गलत कदम पर छिड़ी ‘जंग’

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रूस यात्रा की शुरुआत एक गलती के साथ हुई। रूस पहुंचते ही प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद राष्‍ट्रगान के दौरान प्रधानमंत्री आगे बढ़ गए। एक रूसी अफसर ने उन्‍हें रोका और वापस अपनी जगह पर खड़े होने के लिए ले गया।

1 Untitled

बुधवार रात हुई यह गलती गुरुवार की सुबह सोशल मीडिया पर छा गई। फेसबुक, ट्विटर और तो और वाट्सएप पर इस गलती का फुटेज जारी होते ही लम्‍बी बहस शुरू हो गई। किसी ने इसे मोदी की नासमझी कहा, किसी ने गलती तो किसी ने बेवकूफी।  शाम तक यह चर्चा आम रही।

ट्विटर और फेसबुक पर सुबह से #ModiInRussia ट्रेंड करने लगा। विनीत सिंह ने तंज कसते हुए कहा, ‘बड़ा दिन मनाने रूस पहुंच गए। वाह रे मोदी। कल हो न हो देख ली क्‍या।’

Untitled

साहिल ने मोदी से सवालिया लहजे में पूछा, ‘रूस में राष्ट्रगान का विरोध मोदी जी ने किया, पहले तिरंगे का अपमान अब राष्ट्रगान का अपमान, पता नहीं आगे और क्या देखना पडेगा मोदी जी।’

बात यहीं खत्‍म नहीं हुई। मोदी की गलती पर राजनीति शुरू हो चुकी थी। कांग्रेस को चाहने वाले अशोक कुमार ने ट्विट किया- जागो भारत जागो, कांग्रेस लाओ देश बचाओ।

हालांकि ट्विटर पर मोदी को चाहने वाले भी कम नहीं। उनकी इन गलती को नासमझी मान नजरअंदाज करने वालों ने रूस यात्रा का समर्थन किया। डाक्‍टर दिबेन्‍दु साहू ने लिखा-मोदी की रूस यात्रा कई अहम समझौतों की गवाह बनेगी।

2

यही हाल फेसबुक पर भी था। अनुज गुप्‍ता ने तीखी टिप्‍पणी करते हुए सवाल दागा, मोदी नहीं जानते कि राष्‍ट्रगान के दौरान खड़े रहना चाहिए? रवि ने लिखा- ‘एक दिन पूरी दिन नमो के लिए वोट करेगी।’ उनके इस कंमेट के विरोध में सुचरण ने लिखा, ‘मेरा अटल विश्‍वास है कि मोदी किसी भी तरह से प्रधानमंत्री पद के लायक नहीं हैं।’ एक और फेसबुक यूजर सैण्‍डी ने मोदी का साथ दिया और लिखा-modi rocks।

पढ़ें : प्रधानमंत्री मोदी ने रूस में किया राष्‍ट्रगान का अपमान

वाट्सएप पर भी मोदी की गलती का वीडियो वायरल हो गया। लोगों के रुख में विरोध और समर्थन दोनों ही दिखा। वाट्सएप का एक मैसेज जो फेसबुक पर पेस्‍ट किया गया, उसमें लिखा था-वीडियो देखकर लग रहा है कि मोदी किसी सोच में थे। यह एक गलती नहीं नासमझी है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button