INS विक्रमादित्य पर सेना के कमांडर्स को संबोधित करेंगे PM मोदी

0

PM

नई दिल्ली/कोच्ची। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कोच्चि के करीब अरब सागर में संयुक्त कमांडर्स कांफ्रेंस को संबोधित करेंगे। ये पहला मौका है जब रक्षा मंत्री और तीन सेनाओं के प्रमुखों सहित टॉप कमांडर्स का ये सम्मेलन राजधानी दिल्ली से बाहर समुद्र में हो रहा है। पिछली कमांडर्स कांफ्रेंस में खुद पीएम मोदी ने सेनाओं को सलाह दी थी कि इस तरह की महत्वपूर्ण मीटिंग ऑपरेशनल-इलाकों और युद्धपोत पर होनी चाहिए। इसीलिए ये कांफ्रेंस आईएऩएस विक्रमादित्य़ पर हो रही है।

आईएनएस विक्रमादित्य पर होगी बैठक
ये कांफ्रेस नौसेना के आधुनिकतम विमान-वाहक युद्धपोत, आईएनएस विक्रमादित्य पर होगी। इस सम्मलेन में तीनों सेनाओं के प्रमुख देश की आंतरिक और बाहरी सुरक्षा की चुनौतियों और उनसे निपटने की तैयारियों के बारे में चर्चा करेंगे। साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सेना के वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों को देश के सामरिक और सुरक्षा नीति से अवगत कराएंगे।

रक्षा मंत्री,एनएसए भी लेंगे भाग
इस सम्मेलन में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, एनएसए अजीत डोभाल और तीनों सेनाओं के प्रमुख भी हिस्सा लेंगे। सम्मेलन सुबह नौ बजे शुरु होगी और करीब 2 बजे तक चलेगा। इसके बाद नौसेना प्रधानमंत्री मोदी के सामने अपना शक्ति-प्रर्दशन दिखाएगी। इसमें विमान-वाहक युद्धपोत पर लड़ाकू-विमान मिग-29 का टेक-ऑफ और लैंडिग दिखाया जायेगा।

पीएम मोदी ने ही थी सलाह
साथ ही नौसेना के दूसरे युद्धपोत आईएऩएस विराट सहित करीब एक दर्जन युद्धपोत इस शक्ति-प्रर्दशन में हिस्सा लेंगे। ये सभी युद्धपोत सम्मेलन की सुरक्षा में भी तैनात रहेंगे। ये सम्मेलन राजधानी दिल्ली से बाहर, पीएम की सलाह पर ही हो रही है। दरअसल, पिछली कमांडर्स कांफ्रेंस में खुद पीएम मोदी ने सेनाओं को सलाह दी थी कि इस तरह की महत्वपूर्ण मीटिंग ऑपरेशनल-इलाकों और युद्धपोत पर होनी चाहिए। इसीलिए ये कांफ्रेंस आईएऩएस विक्रमादित्य़ पर हो रही है। संयुक्त कमांडर्स कांफ्रेंस अमूमन हर साल अक्टूबर में होती है लेकिन इस बार बिहार चुनाव के चलते दिसम्बर में हो रही है।

loading...
शेयर करें