PMLA कोर्ट ने अनिल देशमुख की ED हिरासत को इतने दिनों के लिए बढ़ाया

मुंबई: महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को एक बार फिर से झटका लगा है। मनी लॉन्ड्रिंग केस में फंसे देशमुख की कस्टडी यहां की एक विशेष PMLA अदालत ने करोड़ों रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शुक्रवार को महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की ED हिरासत 15 नवंबर तक बढ़ा दी। उन्हें पिछले हफ्ते की शुरुआत में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गिरफ्तार किया था।

एक विशेष अदालत ने छह नवंबर को 71 वर्षीय राकांपा नेता को न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। हालांकि, एक दिन बाद बॉम्बे हाईकोर्ट ने निचली अदालत के आदेश को खारिज करते हुए देशमुख को 12 नवंबर तक ED की रिमांड पर भेज दिया। शुक्रवार को पूर्व मंत्री को विशेष PMLA अदालत के न्यायाधीश एच एस साथभाई के समक्ष पेश किया गया, जिन्होंने उनकी हिरासत 15 नवंबर तक बढ़ा दी।

क्या था मामला

आपको बता दें कि अनिल देशमुख पर आरोप है कि गृहमंत्री रहते हुए उन्होंने करीब 100 करोड़ रुपये की वूसली की थी। उन पर मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की ओर से आरोप लगाए गए थे। परमबीर सिंह ने सीएम उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखकर ये सभी आरोप लगाए थे। इसके बाद से ही यह मामला सामने आया और केंद्रीय एजेंसी सीबीआई ने इस मामले में मामला दर्ज किया था।

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में सैनिकों ने फिदायीन हमले को किया नाकाम, 24 घंटे में 3 आतंकी ढेर

Related Articles