जातिगत जनगणना पर बिहार के नेताओं से PM की बातचीत

बता दें कि, बिहार की राजनीति में 23 अगस्त को एक और अध्याय जुड़ने जा रहा है, जब पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात होगी।

नई दिल्ली: बिहार की 10 पार्टियों का एक 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के नेतृत्व में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मिल रहा है। जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी की नेताओं के साथ बातचीत जारी है।

बता दें कि, बिहार की राजनीति में 23 अगस्त को एक और अध्याय जुड़ने जा रहा है, जब पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात होगी। वहां पर वे सभी मिलकर बिहार की जाति को गिनने की बात करेंगे। बिहार में जो मौजूदा राजनीतिक हालात हैं, उसमें सभी राजनीतिक दलों का मानना है कि जातीय गणना जरूरी है।

PM के साथ होने वाली इस बैठक में नीतीश कुमार 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे, जिसमें राज्य के राजनीतिक दलों के एक-एक प्रतिनिधि शामिल होंगे। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) शुक्रवार को ही दिल्ली पहुंच गए थे, जबकि बाकी दलों के नेता रविवार को दिल्ली गए हैं।

उठ रहे बिहार सरकार पर सवाल 

बतौर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) की मानें तो जाति जनगणना से बेहतर तो अब कुछ है ही नहीं, नीतीश कुमार समस्तीपुर से बाढ़ समीक्षा करने के बाद लौटे। उन्होंने कहा कि पीएम से मिलने जा रहे हैं। जाति जनगणना पर बात करेंगे और जाति जनगणना हो जाए, इससे बेहतर तो कुछ है ही नहीं।

जाति जनगणना को लेकर बिहार जिस तरीके से गोलबंद हुआ है, उसके बाद कई सवाल बिहार के सियासी गलियारे में दौड़ने शुरू हो गए हैं। दो इंजन की सरकार से बिहार में विकास को रफ्तार मिली है, ऐसे में जो नहीं हो रहा है, उसको लेकर एक सवाल उठना लाजमी भी है। क्योंकि सियासतदान अपने फायदे के लिए ही मुद्दे को बनाते हैं।

यह भी पढ़ें: Petrol Diesel Price: जानें आज क्या हैं पेट्रोल-डीजल के दाम

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles