छापेमारी अभियान के दौरान 12 साल से फरार चल रहे नक्सली को पुलिस ने किया गिरफ्तार

कैमूर: बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रशासन लगातार छापेमारी अभियान चला रही है, जिसके तहत सालों से फरार चल रहे अपराधियों को गिरफ्तार किया जा रहा है. इसी क्रम में कैमूर सीआरपीएफ ने रोहतास सीआरपीएफ के सहयोग से 12 साल से फरार चल रहे नक्सली प्रमोद उरांव को किया गिरफ्तार कर लिया है.

 गिरफ़्तारी

बता दें कि गिरफ्त में आए नक्सली पर 6 अक्टूबर, 2008 में जिले के अधौरा के आथन मोड़ के पास पुलिस पार्टी को उड़ाने के लिए बारूदी सुरंग लगाने का आरोप है. इस मामले में अधौरा थाना में नक्सली के ऊपर मामला दर्ज है. उस समय घटनास्थल से 10 किलो विस्फोटक और 2 डेटोनेटर बरामद किया गया था. पुलिस जांच में 19 लोगों की इस घटना में संलिप्तता की बात सामने आई थी. सभी पर नामजद प्राथमिकी दर्ज हुई थी और यह उस समय से फरार चल रहा था.

इस संबंध में जानकारी देते हुए कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि एएसपी अभियान के नेतृत्व में कैमूर जिले के सीआरपीएफ और रोहतास के सीआरपीएफ ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए रोहतास जिले के नौहट्टा थाना क्षेत्र के पहाड़ी इलाके से प्रमोद उरांव को गिरफ्तार कर लिया है. यह 2008 से फरार चल रहा था.

एसपी ने कहा कि पूछताछ के दौरान नक्सली ने यह स्वीकार किया कि 2008 में अधौरा थाना क्षेत्र बारूदी सुरंग बिछा कर उसने पुलिस पार्टी उड़ाने का प्रयास किया था. लेकिन पुलिस ने उनकी प्लानिंग पर फेल कर दिया था. एसपी ने बताया कि उसी समय से भागकर वह पहाड़ी इलाकों में छुपा रहता था, जिसे 12 वर्ष के बाद पहाड़िया घाट से रोहतास जिले के नौहट्टा थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया है

यह भी पढ़े: राजस्थान के बाद तमिलनाडु में पुजारी की मंदिर में पीट-पीटकर हत्या, बीती रात गोंडा में पुजारी को मारी गई गोली

Related Articles