अयूब पंडित हत्याकांड मामले में पुलिस ने 20 पर कसा शिकंजा, कुछ अन्य की भी हो सकती है गिरफ्तारी

0

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में हुए डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित हत्याकांड मामले में पुलिस ने 20 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में पुलिस ने बताया है कि जल्द ही कुछ अन्य और लोगों की गिरफ्तारी की जाएगी। पुलिस महानिरीक्षक मुनीर खान ने हुर्रियत कांफ्रेंस प्रमुख मीरवाईज मौलवी उमर फारुक की ओर इशारा करते हुए कहा कि इस मामले में पुलिस जिससे भी जरूरत समझेगी पूछताछ करेगी।

आपको बता दें कि बीते 22 जून को राज्य पुलिस के सुरक्षा विंग में तैनात डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित की जामिया मस्जिद के ठीक बाहर भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने बीते 12 जुलाई को मामले में शामिल एक आतंकी को मुठभेड़ में मार गिराया था।

पुलिस महानिरीक्षक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी जानकारी 

सोमवार को पुलिस महानिरीक्षककश्मीर मुनीर अहमद खान ने डीआईजी सेंट्रल कश्मीर रेंज गुलाम हसन बट, एसएसपी श्रीनगर इम्तियाज इस्माईल पर्रे और एसपी नार्थ श्रीनगर सज्जाद की मौजूदगी में पत्रकारों को संबोधित किया और मामले से जुडी कई जानकारियां दी।

जानिए कैसे की गई थी डीएसपी की हत्या 

पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि इस मामले में जांच चल रही है। कुछ और गिरफ्तारियां होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि दूसरे मामलों से इतर समाज के विभिन्न तबकों ने इस घटना की व्यापक निंदा की थी। आम जनता और प्रत्यक्षदर्शी जांच में मदद करने और अहम जानकारी उपलब्ध कराने के लिए खुद आगे आए। इससे हम सही दिशा में आगे बढ़े। शुरुआती चरण में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया। उनसे पूछताछ की गई थी।

इससे बाद में गिरफ्तारियां की गईं और सबूत बरामद किए गए। जांच के दौरान यह पता चला कि उपद्रवियों का एक समूह आतंकवादी जाकिर मूसा के समर्थन और हुर्रियत कांफ्रेंस के नरमपंथी धड़े के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक के स्वागत के लिए नारे लगाते हुए मस्जिद से बाहर आया। चार उपद्रवियों को बुलाकर डीएसपी पूछताछ करने लगे।

उन्होंने उनसे पहचान पत्र मांगा जिसे दिखाने से उन लोगों ने इनकार कर दिया। उपद्रवियों ने अधिकारी से हाथापाई करनी शुरू कर दी। कई उपद्रवी इकट्ठे हो गए। अधिकारी ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से कमर के नीचे कुछ गोलियां चलाईं। इससे तीन हमलावर घायल हो गए, जो उनके एकदम निकट थे और उनसे हाथापाई कर रहे थे।

loading...
शेयर करें