गाजियाबाद में पुलिस ने अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री का किया भंडाफोड़

पुलिस ने इस गुप्त मार्ग का पता लगाकर वहां हथियार बना रहे पांच लोगों को गिरफ्तार कर अवैध हथियारों का जखीरा बरामद किया है।

गाजियाबाद: गाजियाबाद के मुरादनगर में पुलिस ने अवैध हथियारों की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। यह फैक्ट्री एक बेसमेंट में चलाई जा रही थी, जहां एक टनल के जरिए ही पहुंचा जा सकता था। पुलिस ने इस गुप्त मार्ग का पता लगाकर वहां हथियार बना रहे पांच लोगों को गिरफ्तार कर अवैध हथियारों का जखीरा बरामद किया है।

मिली जानकारी के अनुसार मुरादनगर क्षेत्र में ईंट भट्ठा नंबर 5 के पास कुछ खेत हैं। यह घर इन्हीं खेतों में स्थित था। हालांकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पुलिस को अवैध हथियारों की आपूर्ति के बारे में लंबे समय से जानकारी मिल रही है, लेकिन उन्हें वह जगह नहीं मिली जहां ये बनाए जा रहे थे।

बता दें कि बाहर से देखने पर यह घर इलाके के किसी अन्य घर जैसा दिखता था और जब पुलिस अंदर गई तो शुरू में कुछ भी असामान्य नहीं मिला। हालांकि, करीब से देखने पर पुलिस को दूसरा दरवाजा मिला जो दीवार पर एक खिड़की की तरह लग रहा था। दरवाजा खोलने पर, उन्हें फर्श के नीचे एक सुरंग की ओर जाने वाला रास्ता मिला। इसी सुरंग के जरिए वे तहखाने तक पहुंचे।

अवैध हथियार समेत 5 लोग गिरफ्तार

पुलिस ने वहां मौजूद तीन आरोपियों समेत पांच लोगों को हिरासत में लिया है और उनके पास से भारी संख्या में अवैध हथियार बरामद किए गए हैं। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार लोगों में एक महिला भी शामिल है, जो एक आरोपी की पत्नी है। मुख्य आरोपी की पहचान जहीरुद्दीन के रूप में हुई है जो मेरठ का रहने वाला है और फरार चल रहा है। वह कथित तौर पर कभी-कभी कारखाने का दौरा करता है और पुलिस उसकी तलाश में है।

विधानसभा चुनाव से पहले हो रहे कांड

पता चला है कि जब भी अपराधियों द्वारा हथियारों की मांग में वृद्धि होती है, तो इनकी आपूर्ति इसी कारखाने से की जाती है। हालांकि पुलिस अवैध हथियारों के रैकेट का भंडाफोड़ करने में कामयाब रही है, लेकिन इससे यह भी पता चलता है कि 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले अवैध हथियारों का कारोबार कैसे फल-फूल रहा है।

यह भी पढ़ें: John Cena ने Sidharth Shukla को दी श्रद्धांजलि, इंस्टाग्राम पर फोटो शेयर कर जताया शोक

Related Articles