दिनदहाड़े हुई लूट का पुलिस (Police) ने किया खुलासा, पुलिस की गिरफ्त में चार लुटेरे 

लूट की घटना 23 दिसंबर को रूद्रपुर में हुई थी। तीन बदमाशों ने तमंचे की नोक पर एक निजी कंपनी के कर्मचारी से रेलवे रोड के पास से दिनदहाड़े 5.35 लाख रुपये लूट लिये थे।

नैनीताल: उत्तराखंड (Uttarakhand) के उधमसिंह नगर में गत 23 दिसंबर को हुई लूट की बड़ी घटना का पुलिस (Police) ने खुलासा कर दिया है। इस मामले में चार लुटेरों को गिरफ्तार किया गया है जबकि एक फरार है। लूटी गयी रकम में से 3,49,000 रुपये भी बरामद कर लिये गये हैं।

लूट की घटना पिछली 23 दिसंबर को रूद्रपुर में हुई थी

लूट की घटना 23 दिसंबर को रूद्रपुर में हुई थी। तीन बदमाशों ने तमंचे की नोक पर एक निजी कंपनी के कर्मचारी से रेलवे रोड के पास से दिनदहाड़े 5.35 लाख रुपये लूट लिये थे। बदमाश घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो गये। पुलिस (Police) तत्काल हरकत में आ गयी और बदमाशों को पकड़ने के लिये पांच टीमों का गठन किया गया। माना जा रहा था कि बदमाश लूट की घटना को अंजाम देने के बाद उत्तर प्रदेश की सीमा मेें भाग गये हैं।

उधमसिंह नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (Senior superintendent of police) दलीप सिंह कुंवर ने गुरुवार को रूद्रपुर में स्वयं इस मामले का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि पकड़े गये बदमाशों में दो उप्र स्थित रामपुर के बिलासपुर के रहने वाले हैं जबकि एक फरार है। उन्होंने बताया कि बदमाश घटना के बाद विभिन्न रास्तों से फरार होकर लूटी गयी रकम के साथ दिनेशपुर पहुंच गये लेकिन इससे पहले ही वे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गये।

पुलिस (Police) ने बदमाशों की पहचान कर ली थी। बस पुलिस की ओर से उन पर नजर रखी जाने लगी। मुखबिर से पुलिस को बदमाशों के दिनेशपुर में छिपे होने की जानकारी मिली। इसके बाद पुलिस (Police) ने बुधवार को छापा मारकर चार बदमाशों को दिनेशपुर से गिरफ्तार कर लिया गया। अभी भी एक लुटेरा फरार चल रहा है।

पकड़े गये बदमाशों में ऐशप्रीत सिंह उर्फ ऐश कंग, हरमन सिंह (निवासी बिलासपुर, रामपुर), चंद्रशेखर उर्फ चंदू व रोहित सिंह निवासी रूद्रपुर शामिल हैं। एक आरोपी अमन पांडे निवासी रूद्रपुर फरार चल रहा है।

बदमाशों के पास से 3,49,000 रुपये की नगदी भी बरामद कर ली गयी है

पुलिस (Police) ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपियों के पास से 3,49,000 रुपये भी बरामद कर लिये गये हैं। इनमें से एक आरोपी रोहित एमेजाॅन कंपनी में काम करता है और रोहित और हरमन ने लूट की योजना बनाकर अपने अन्य साथियों को बताया और चंद्रशेखर, ऐश प्रीत सिंह और अमन पांडे ने तमंचे के बल पर लूट की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद रोहित व हरमन ने लूटी गयी रकम में से आधी रकम को अपने पास छिपा लिया और बाकी के हिस्से में 45-45 हजार रुपये आये।

यह भी पढ़ें:

Related Articles

Back to top button