बिकरु कांड में पुलिस को मिली एक और कामयाबी, इनामी अपराधी को किया गिरफ्तार

25 हजार का इनामी गिरफ्तार

कानपुर का चर्चित बिकरु कांड के मुख्यारोपी विकास दुबे समेत अन्य आरोपियों की मदद करने वाला अभिषेक अब पुलिस के हत्थे चढ़ गया है. अभिषेक उर्फ छोटू पर आरोप था कि उसने बिकरु कांड के आरोपियों को पुलिस से बचाया और भागने में उनकी मदद की. पुलिस को जब उसकी जानकारी हुई, तबसे ही वह फरार चल रहा था. इसके चलते उसपर पनकी थाना पुलिस ने उसपर 25 हजार का इनाम रखा था. बताया जा रहा है कि पुलिस को उसके पास से बिकरु कांड के आरोपियों को भगाने में प्रयोग हुई कार भी मिल गई है.

सीओ सहित 8 पुलिसकर्मियों की हुई थी हत्या

बता दें, साल 2020 में चौबेपुर के पास बिकरु गांव में अपराधी विकास दुबे ने अपने साथियों संग सीओ सहित 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी. इस घटना में विकास दुबे समेत उसका भांजा अमर दुबे और साथी प्रभात मिश्रा भी शामिल थे. इस कांड के बाद तीनों आरोपी फरार हो गए थे और उनको भागने में मदद इसी अभिषेक उर्फ छोटू ने की थी. इतने महीनों तक छोटू पुलिस से बचने में कामयाब रहा, लेकिन पुलिस लगातार इस मामले में कार्रवाई करती रही और आखिरकार उसे धर दबोचा. एडिशनल डीसीपी बृजेश श्रीवास्तव ने इसकी पुष्टि की है.

सबसे बाद में गया जेल, सबसे पहले लौटा

बता दें, बिकरु कांड का पहला आरोपी राहुल सिंह अब जेल से बाहर आ गया है. याद हो, वह इकलौता आरोपी था, जिसने सबसे बाद में आकर कोर्ट में सरेंडर किया था. फर्जी वाहन पास के केस में उसे गिरफ्तार किया गया था. बता दें, इस कांड में जितने भी आरोपियों की पुलिस को जानकारी हुई थी, उनमें से राहुल सिंह को ही गिरफ्तार नहीं किया जा सका था. लेकिन, इस साल के अगस्त में वह कोर्ट के सामने पेश हुआ और सरेंडर कर दिया.

यह भी पढ़ें- UP चुनाव से पहले योगी सरकार का बड़ा फैसला, आदेश जारी

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

 

Related Articles