छात्र कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, अखिलेश ने कहा हुआ है खूनी हमला

लखनऊ-हजरतगंज में समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने खूब लाठी बरसाया, दरअसल छात्र कोरोना काल में जेईई और नीट परीक्षा कराये जाने का विरोध कर रहे थे. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी परीक्षा स्थगित करने की मांग की थी लेकिन सरकार ने परीक्षा स्थगित करने से मना कर दिया.  नाराज़ समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं ने लखनऊ में इसके विरोध में प्रदर्शन किया, जिसके बाद पुलिस ने उनके ऊपर जमकर लाठियां भांजी।

समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं ने सपा के प्रदेश कार्यालय से प्रदर्शन शुरू किया और राजभवन की तरफ बढ़ने लगे, इस दौरान पुलिस ने छात्रों को रोकने के लिए बैरीकेटिंग का प्रयोग करते हुए उन्हें गौताम्पल्ली के पास रोक दिया.

छात्रों पर जमकर चली लाठियां  

छात्रों पर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी, दरअसल पुलिस ने छात्र सभा के कार्यकर्ताओं से वापस जाने को कहा. कुछ छात्रों ने इसका विरोध करते हुए पुलिस द्वारा लगायी गयी वैरिकेटिंग को फांदकर आगे बढ़ने का प्रयास किया.

पुलिस हिरासत में कई छात्र
बताया जा रहा है कि कुछ कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। हिरासत में लिए गए सभी छात्रसभा के कार्यकर्ताओं को बसों से ईको गार्डन ले जाया गया है।

अखिलेश यादव ने ट्वीट कर सरकार पर साधा निशाना

पुलिस की कार्रवाई विपक्ष द्वारा जबरदस्त विरोध किया जा रहा है. परीक्षाओं को लेकर सुबह ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट किया था. उन्होंने लिखा, ‘जिस प्रकार देशभर के परीक्षार्थियों ने अपनी ‘नापसंदगी’ दर्शाकर अपना रोष दर्ज किया है, उसने साफ़ कर दिया है कि चिंतित युवा और अभिभावक भी चाहते हैं कि सत्ताधारी अपना अहम छोड़कर परिवारवालों की मांग सुनें। उन्होंने निशाना साधते हुए लिखा कि ‘ये जनतंत्र है मनतंत्र नहीं’.

Related Articles